DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे में इमरचोंसी कोटा पर ग्रहणरेलवे में इमरचोंसी कोटा पर ग्रहण

म पड़ रहा है वीआइपी कोटारांची। रांची से खुलनेवाली कई महत्वपूर्ण ट्रेनों में अनारक्षित टिकट को कन्फर्म कराना आसान नहीं है। राज्य बनने के बाद वीआइपी की संख्या में काफी वृद्धि हुई, लेकिन ट्रेनों में वीआइपी कोटा पूर्व निर्धारित ही है। ऐसे में रल मुख्यालय के समक्ष यह गंभीर समस्या हो जाती है कि वीआइपी कोटा के तहत किस टिकट को कन्फर्म किया जाये। रांची रल मंडल, रल मुख्यालय को जितने भी ट्रेनों में वीआइपी कोटा दिया गया है, वह काफी कम है। रल मुख्यालय के नये निर्देश कि कैंसर पीड़ित मरीा को रलवे टिकट काउंटर से ही वीआइपी कोटा दे दिया जाये। इसके बाद रल मुख्यालय के समक्ष वीआइपी कोटा रिलीज करने में परशानी और भी बढ़ गयी है। रल यात्रियों की शिकायत और रल मुख्यालय के आग्रह के बाद भी रांची और हटिया से खुलनेवाली ट्रेनों में वीआइपी कोटा नहीं बढ़ाया गया। विभिन्न ट्रेनों में रांची रल मंडल का वीआइपी कोटा इस प्रकार है:ड्ढr ट्रेन कोटाड्ढr राजधानी एक्सप्रेस फर्स्ट एसी-4, सेकेंड एसी-16, थर्ड एसी-20ड्ढr मौर्या एक्सप्रेस सेकेंड एसी-दो, थर्डएसी-3,स्लीपर-5ड्ढr तपस्विनी एक्सप्रेस फर्स्ट एसी-1, सेकेंड एसी-2, थर्ड एसी-3, स्लीपर-5ड्ढr हटिया-एलटीटी एक्स सेकेंड एसी-6,थर्ड एसी-8, स्लीपर-12ड्ढr हटिया यशवंतपुर एक्स सेकेंड एसी-5, थर्ड एसी-6, स्लीपर-12ड्ढr धनबाद-एलेप्पी एक्स सेकेंड एसी-6, स्लीपर-10 ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रेलवे में इमरचोंसी कोटा पर ग्रहणरेलवे में इमरचोंसी कोटा पर ग्रहण