अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंदी के कारण आर्डरों की कमी : इंफोसिस

वैश्विक मंदी के कारण विदेशी ग्राहकों से मिलने वाले आर्डरों में आई कमी से देश की दूसरी सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी इंफोसिस टेक्नालॉजी लिमिटेड का कारोबार बुरी तरह प्रभावित हुआ है। अमेरिकी शेयर बाजार नेसडैक में पंजीकृत यह कपंनी सॉफ्टवेयर निर्यात का बड़ा करोबार करने वालों में से एक है, लेकिन वैश्विक मंदी ने इसपर कुछ ऐसा असर डाला है कि अप्रैल महीने में यह अपने कर्मचारियों के वेतन में बहुत कम इजाफा करने जा रही है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के गोपालकृष्णन ने गुरुवार को संवाददाताआें से कहा कि वैश्विक मंदी के कारण कंपनी का कारोबार लंबे समय तक प्रभावित रह सकता है। उन्होनें कहा कि अंग्रेजी भाषा के जानकार इंजीनियरों और काम की सस्ती दरों के कारण सिटी ग्रुप, जनरल इलेक््रिटक, क्वातांस और एयरबस जैसी विदेशी कंपनियां बड़े पैमाने पर इन्फोसिस से आउटसोर्सिग कराती रही हैं। लेकिन अमेरिका से शुरू हुई वैश्विक मंदी ने सूचना प्रौद्योगिकी बाजार को बुरे प्रभावित किया है क्योंकि इस क्षेत्र का आधे से अधिक कारोबार अमेरिका से मिलने वाले काम पर ही टिका हुआ है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंदी के कारण आर्डरों की कमी : इंफोसिस