DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अटल की विरासत संभालेंगे टंडन!

भाजपा के पीएम इन वेटिंग लालकृष्ण आडवाणी पार्टी के दिग्गज नेता अटल बिहारी वाजपेयी की विरासत पर कब्जा बरकरार करने का साहस नहीं जुटा पाये। तमाम जद्दोजेहद के बाद पार्टी ने लखनऊ लोकसभा सीट से अंतत: राज्य के पूर्व मंत्री लालजी टंडन को चुनाव लड़ाने का फैसला किया है। इसी के साथ अब इन अटकलों पर भी विराम लग गया कि वाजपेयी लखनऊ से चुनाव लड़ेंगे। टंडन के नाम को केन्द्रीय चुनाव समिति की गुरूवार को हुई मैराथन बैठक में ही तय कर लिया गया था। लेकिन इसकी घोषणा नहीं की गई थी। वाजपेयी से टंडन के नाम पर मोहर लगवाने के लिये राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को एम्स में उनसे मुलाकात की। राजनाथ सिंह ने ‘हिन्दुस्तान’ को बताया कि वाजपेयी जी तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। वे लोगों को पहचान रहे हैं और उठ-बैठ भी रहे हैं। उनसे यह पूछने पर कि क्या टंडन के नाम पर मोहर लगाने के लिये वे उनसे मिले थे, तो उन्होंने मुस्कराते हुये कहा कि हमने इस बार में सबसे बातचीत कर फैसला लिया है। पार्टी के कई बड़े नेताओं का मानना है कि टंडन की लखनऊ से उम्मीदवारी घोषित करने के साथ ही पार्टी ने अटल जी की विरासत को तश्तरी में रखकर विपक्ष को परोस दिया है। समाजवादी पार्टी ने फिल्म स्टार संजय दत्त को अपना उम्मीदवार बनाया है। वहीं बहुान समाज पार्टी ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री अखिलेश दास को उम्मीदवार बनाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अटल की विरासत संभालेंगे टंडन!