DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिल्स ने बीसीसीआई के फैसले क ो ‘बेवकूफी’ बताया

यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अपने दो खिलाड़ियों मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और दिनेश कार्तिक को मास्टर्स 20-20 मैच में खेलने की इजाजत नहीं देने को ‘बेवकूफी’बताया है। बीसीसीआई ने मास्टर्स 20-20 मुकाबले में सचिन और कार्तिक को यह कहते हुए खेलने से मना कर दिया था क्योंकि इस मैच में बागी आईसीएल में शामिल हैमिश मार्शल खेल रहे थे। इस मुकाबले में आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के पूर्व खिलाड़ी शिरकत करने वाले थे। जिसमें सचिन न्यूजीलैंड की तरफ से और कार्तिक आस्ट्रेलिया की तरफ से खेलने वाले थे। न्यूजीलैंड बोर्ड के अध्यक्ष हीथ मिल्स ने कहा कि हमें इसपर आश्चर्य हुआ। दोनों टीमें भारतीय खिलाड़ियों के साथ खेलने को लेकर उत्सुक थी। अगर वे खेलते तो यह हमारे लिए अच्छा होता। उन्होंने कहा कि हमारे कुछ युवा गेंदबाज सचिन के खिलाफ गेंदबाजी करने की सोचकर ही रोमांचित थे। लेकिन बीसीसीआई से सब गुड़गोबर कर दिया। मिल्स ने कहा कि ईमानदारी से कहूं तो बीसीसीआई का फैसला हमें बड़ा अटपटा लगा। मैंने बाद में बताया कि मार्शल अब आईसीएल का हिस्सा नहीं हैं। उन्होंने कहा कि मैंने भारतीय कोच गैरी कर्स्टन के साथ बातचीत की और उन्होंने भी मुझे कहा कि दोनों भारतीय खिलाड़ी इस मैच में खेलने को उत्सुक हैं। लेकिन बीसीसीआई के फैसले के कारण ऐसा नहीं हो सका। मिल्स ने कहा कि बीसीसीआई और आईसीएल को आपसी मामले सुलझा लेने चाहिए क्योंकि इससे कई बेहतरीन खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नहीं खेल पा रहें हैं। उन्होंने कहा कि अगर बीसीसीआई और आईसीएल आपसी मुद्दे सुलझा लें तो क्रिकेट दुनिया के लिए शानदार रहेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मिल्स ने बीसीसीआई के फैसले क ो ‘बेवकूफी’ बताया