अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवा वोटरों को प्रेरित करने की मुहिम

चुनाव आयोग का जोर अब लोकतंत्र के महापर्व में युवाओं की भागीदारी बढ़ाने पर है। युवा वोटरों को लोकसभा चुनाव में मतदान के लिए प्ररित करने की मुहिम शुरू की जा रही है। बिहार में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों से निर्वाचन विभाग यह अनुरोध कर रहा है कि वे अपने बूथ लेबल एजेंट(बीएलए) के सहयोग से युवाओ के बीच यह अभियान चलाएं। आयोग ने मतदाता सूची की त्रुटियों को दूर करने के लिए मान्यता प्राप्त सभी नौ राष्ट्रीय और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों से बीएलए नियुक्त करने को कहा है।ड्ढr ड्ढr आयोग यह चाहता है कि बीएलए का सहयोग युवा वोटरों को मतदान के लिए प्रोत्साहित करने में भी किया जाए। बिहार में यह इस तरह का नया प्रयोग होगा। वैसे निर्वाचन विभाग इस बात को लेकर चिंतित है कि राजनीतिक दल बीएलए की नियुक्ित में ही दिलचस्पी नहीं दिखा रहे। बिहार में करीब 57 हजार बूथ हैं। इस हिसाब से अगर नौ राजनीतिक दल बीएलए की नियुक्ित करें तो उनकी संख्या 5 लाख से अधिक होनी चाहिए। पर अभी तक बिहार में राजनीतिक दलों ने महज 5 हजार बीएलए ही नियुक्त किए हैं। अब सवाल यह भी है कि 57 हजार बूथों के मुकाबले 5 हजार बीएलए के बूते युवाओं में जागरुकता पैदा करने की कोशिश किस हद तक कामयाब होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: युवा वोटरों को प्रेरित करने की मुहिम