DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दरकी दीवार,कोसी ने कराया मिलन

ोसी ने कराया ‘भाईयों’ का मिलन। चालीस करोड़ साठ लाख रुपये के चेक के लेन-देन के बाद बड़े भाई लालू प्रसाद और छोटे भाई नीतीश कुमार गले मिले तो दलों की दीवार दरक गयी। एलान हुआ कि कोसी त्रासदी पर राजनीति नहीं। संकट का मुकाबला हम आमने-सामने होकर नहीं, कंधे से कंधा मिलाकर करंगे। नीतीश ने कोसी पैकेज की याद दिलाई तो लालू ने गृह मंत्रालय में बात करने का भरोसा दिलाकर कहा कि भारी तबाही हुई है। बाढ़पीड़ितों के लिए अबतक जो कुछ भी हुआ वह ‘ऊंट के मुंह में जीरा’ है। केन्द्र को फौरन मदद देनी चाहिए।ड्ढr ड्ढr राहत कोष में अबतक की सबसे बड़ी एकमुश्त राशि से बाढ़ प्रभावित बस्तियों में सामुदायिक भवन बनेंगे। रलमंत्री ने सचिवालय में मुख्यमंत्री को रलवे की तरफ से 38 करोड़ 60 लाख 6 हजार 750 रुपये और राजद की ओर से 2 करोड़ रुपये के चेक सौंपे। लालू की आगवानी के लिए नीतीश तय समय से करीब आधे घंटे पहले ही सचिवालय पहुंच गये थे। अपने कक्ष में कुछ देर बातचीत के बाद मुख्यमंत्री रलमंत्री को संवाद के सभाकक्ष में लेकर आए। ‘हत्या का मुकदमा चलवाने और जीरो पर आउट करने’ का राग अलापते रहे भाइयों ने राहत कार्यो के लिए एक-दूसर को जमकर सराहा। दोनों ने राहत मद में हुए खर्च का भी हिसाब दिया। मुख्यमंत्री को चेक सौंपते हुए रलमंत्री पूर मूड में आ गये और बोले- देखो ना खाली नोटे-नोट है। नीतीश ने लालू की पहल को बाढ़पीड़ितों के पुनर्वास के लिए शुभ संकेत बताया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दरकी दीवार,कोसी ने कराया मिलन