अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांव-कांव

नीतीश की तारीफ राहुल की गलती : जेटलीड्ढr जान बूझ कर नहीं किये, दिल की बात जुबां पर आ गयी- जीतेंद्र तिवारीड्ढr महंगी पड़ी नीतीश-लालू की आलोचनाड्ढr आलू खाते-खाते प्याज का आंसू भूल गये थे का- चंदन, पलामूड्ढr देवघर को छोड़ सभी फिसड्डीड्ढr तो गाइये, जेकर नाथ भोलेनाथ उ अनाथ कइसे होई- 0523ड्ढr कहां गयी मास्टर साहब की जादुई छड़ीड्ढr गयी होगी लालू जी का जिन्न निकालने- राणाड्ढr खिचड़ी बनाने के लिए चूल्हे में- अमित चौबे, केतातड्ढr मटुकनाथ जसन कौनो जूली पर चला दिये होंगे- मिंटू, धनबादड्ढr नसबंदी हो जरूरी : वरुणड्ढr नस बंदी से ज्यादा जरूरी है अराजकता बंदी- सुगातो, हाारीबागड्ढr देखन में छोटे लगे, घाव कर गंभीर- मिहिर झा, रांचीड्ढr अबकी दुनो मियां-बीवी झाड़ू आ रोलर लेके पहुंच जायेंगे- आरबीड्ढr कोरबो, लोरबो, जीतबो का आखिरी मौकाड्ढr खेलबो, हारबो, कपार ठोकबो- दिलीप रक्षितड्ढr दांतों की जांच हर छह माह में करायेंड्ढr और जो मलाई चाभते रहे हैं, उ केतना महीना में करायेंगे- काशिफड्ढr मैट्रिक का रिाल्ट : लड़कों का बजा डंकाड्ढr लेकिन साइकिल तो लड़कियों को ही मिलेगी- अहसाना फिरदौसड्ढr नकल करने में ओस्ताद भी तो लड़के ही होते हैं- डॉ हर्षदेव गुप्ता, चतराड्ढr पीएम का दावेदार न बनने का फैसला राहुल का अपनाड्ढr मां बेटा क्या खिचड़ी पकायेंगे, पता लगाना मुश्किल है- जाहिद, चितरपुरड्ढr कांग्रेस भी अछूत नहीं : कुलकर्णीड्ढr हमलोग बोलते हैं बच्चा-बच्चा राम का तो, उ लोग पूछता है कि क्या इंतजाम है शाम का- लड़कियां फिसड्डी, रिाल्ट का ग्राफ गिराड्ढr और मारो मिस्ड कॉल, हुई न पढ़ाई गोल- बिल्लो, धनबादड्ढr जयाप्रदा से जलते हैं आजम खान : मुलायमड्ढr एतना झकास-झकास आइटम रखियेगा, तो कोइयो जलेगा- अजय रायड्ढr जबरन नसबंदी की नीती लागू होनी चाहिए : वरुण गांधीड्ढr यानी कि कुछ न कुछ काटिये के मानियेगा- गरमी ने फिर पकड़ी रफ्तारड्ढr हां भइया, जवान लइकी को चेहरा छुपा के चलना पड़ रहा है- एके दुबेड्ढr लग्न से जानें जीवन साथी का चरितड्र्ढr नहीं जाना, तभी तो चौका-बर्तन करना पड़ता है- बसंत गोयल, धनबाद

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांव-कांव