DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सौरभी पहली गर्ल इंडियन आयडल

अगरतला की सौरभी देब बर्मन ने इंडियन आयडल-4 में बाजी मारकर इतिहास बदल दिया। वह पहली लड़की प्रतियोगी है जिसने इंडियन आयडल-4 का खिताब हासिल किया। देहरादून का कपिल थापा दूसर स्थान पर रहा। तोरशा भले ही तीसर नंबर पर रही लेकिन भागलपुर के लोग खुश हैं कि अपनी गायकी से वह इस मकाम तक पहुंची। तोरशा को सबसे ज्यादा चाहनेवाले जज जावेद अख्तर ने कहा ‘तोरशा वह धार है जिसे कोई चट्टान रोक नहीं सकती। तुम बहुत आगे जाओगी।’ भागलपुर की यह बेटी हारकर भी जीत गई है।ड्ढr ड्ढr रविवार को मुंबई में आयोजित ग्रैंड फिनाले में जॉन अब्राह्म, कैटरीना कैफ और नील नितिन मुकेश ने सौरभी को विजेता घोषित किया। उन्हें इनाम के रूप में सोनी की तरफ से एक करोड़ रुपए का कांट्रैक्ट, टाटा विंगर कार और एलजी का एक मोबाइल फोन मिला। दोनों रनर अप को भी एक-एक एलजी का मोबाइल दिया गया। सोनाली बेंद्रे की तरफ से फाइनल के तीनों प्रतियोगियों को ओमेगा अवार्ड प्रदान किया गया। तोरशा जब इंडियन आयडल में पहुंची थी तब उसका प्रवेश बेंगलुरु में पढ़ने वाली बीएससी-बायोटेक की छात्रा के रूप में हुआ था। फिर दीपावली का अवसर आया जब बेहतरीन गायकी के लिए जावेद अख्तर के हाथों उसे ‘चांदी का सिक्का’ भेंट स्वरूप मिला और उसने अपनी उपलब्धि भागलपुर में दुर्गा पूजा के मंच पर बिताई गई सुरमई शामों के नाम कर दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सौरभी पहली गर्ल इंडियन आयडल