अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षा मंच का शिक्षक सम्मेलन: शिक्षकों को लुभाने में जुटी भाजपा

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा सूबे के शिक्षकों को लुभाने में जुट गई है। भाजपा शिक्षा मंच की ओर से रविवार को आयोजित शिक्षक सम्मेलन लोकसभा चुनाव पर ही केंद्रित रहा। भाजपा नेताओं ने राजग सरकार के कार्यकाल में शिक्षा और शिक्षकों के कल्याण के लिए किए गए कार्यो का बखान किया। वैसे शिक्षकों ने शिक्षा संबंधी समस्याओं को भी उठाया।ड्ढr ड्ढr उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने विधायक क्लब हॉल में सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए शिक्षा के क्षेत्र में सरकार की उपलब्धियों को गिनाया और पिछली सरकार की नाकामयाबियों को उजागर किया। उन्होंने कहा कि जनता अब काम के आधार पर वोट देगी, न कि घोषणाओं के आधार पर। उन्होंने हर अनुमंडल में एक डिग्री कालेज खोलने के साथ ही पंद्रह लाख बच्चों को स्कूलों से जोड़ने की बात कही। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि आज बिहार में रोजगार से अधिक शिक्षा की मांग बढ़ी है। हमें आम जनता व शिक्षकों की भूख मिटाकर ही वोट मांगने का अधिकार है। विपक्ष पर हमला करते हुए मोदी ने कहा कि विकास के लिए कुछ भी नहीं करने वाले आज जगह-जगह कारखाने खोलने की बात कर रहे हैं।ड्ढr ड्ढr स्वास्थ्य मंत्री नंदकिशोर यादव ने शिक्षकों से शिक्षा का अलख जगाने का आग्रह किया। अध्यक्षीय संबोधन में मंच के अध्यक्ष रामकिशोर सिंह ने कहा कि राज्य में मानव संसाधन ही सबसे बड़ी पूंजी है। पार्टी की राष्ट्रीय मंत्री व विधान पार्षद प्रो. किरण घई ने शिक्षकों से बेहतर शिक्षा व्यवस्था बनाने में जुटने की अपील की। पार्टी के प्रदेश महामंत्री जनार्दन सिंह सिग्रीवाल ने कहा कि केंद्र में एनडीए सरकार बनने पर शिक्षा व्यवस्था बेहतर होगी। सम्मेलन का संचालन महामंत्री डा. संजय श्रीवास्तव ने किया। सम्मेलन में गंगा प्रसाद व मंच के अध्यक्ष विधान पार्षद रामकिशोर सिंह शामिल हुए।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शिक्षा मंच का शिक्षक सम्मेलन: शिक्षकों को लुभाने में जुटी भाजपा