DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सब कुछ लुट गया, होली कैसे मनेगी

इस बार होली घर पर ही मनाएंगे। यही सोच कर तैयारी पूरी कर ली। बच्चों व बड़ों के लिए कपड़े खरीदे। पैसों का इंतजाम किया और शनिवार की शाम जनसाधारण एक्सप्रेस से दिल्ली से पटना के लिए चले। रविवार को होश आया तो अस्पताल में थे। इस पीड़ा को बयां कर रहे थे सीतामढ़ी निवासी लक्ष्मी साव। उनके सार अरमान को नशाखुरानों ने चकनाचूर कर दिया था। हालांकि नशाखुरानों के शिकार उनके अलावा सात और थे, जिनका हाारों नकदी समेत अन्य सामान लूटलिया गया।ड्ढr इन यात्रियों को बेहोशी की हालत में रविवार की सुबह जनसाधारण एक्सप्रेस से पटना जंक्शन में उतारा गया और इलाज के लिए खगौल स्थित रलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया।ड्ढr ड्ढr लक्ष्मी साव ने बताया कि उनका दस हाार रुपये नशाखुरानों ने लूट लिया। उन्होंने कहा कि अब कैसे मनाएंगे होली। बच्चों को क्या बताएंगे कि कपड़े क्यों नहीं लाए? उन्होंने बताया कि बोगी में कुछ लोग ताश खेल रहे थे। इसी बीच एक यात्री ने बिस्कुट का पैकेट फाड़ा और सभी को खिलाया। थोड़ी देर बाद नींद आ गई। फिर क्या हुआ, कुछ याद नहीं। नशाखुरानी के शिकार अन्य यात्रियों में मैट्रिक परीक्षार्थी श्याम कुमार, जय प्रकाश, श्रवण कुमार, रमन कुमार, मो. टिकू, अरविंद कुमार व संतोष कुमार शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सब कुछ लुट गया, होली कैसे मनेगी