DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्लमडॉग के कलाकारों का ननिहाल भी गदगद

लमडॉग मिलियनेयर फिल्म को मिले आस्कर पुरस्कार से महनारवासी भी काफी गौरवान्वित हैं। इस फिल्म में काम करने वाले तीन कलाकरों का ननिहाल महनार के मजलिपुर गांव में है। इस फिल्म में सर्वश्रेष्ठ संपादन के लिए क्रिस डिफेंस को आस्कर पुरस्कार मिला है, जिसमें अनुराधा सिंह और उसके भाई विवेक प्रताप ने एसेम्बली एडिटर के रूप में काम किया। उसी फिल्म में सर्वश्रेष्ठ सिनेमाटोग्राफी के लिए एंथोनी डोड मेल को आस्कर पुरस्कार दिया गया है जिसमें अनुराधा के दूसर भाई ज्ञानेन्द्र प्रताप ने एसेम्बली सिनेमाटोग्राफर का काम किया।ड्ढr ड्ढr इन तीनों भाई-बहनों के नाना जगन्नाथ सिंह स्वर्गवासी हो चुके हैं, जबकि नानी इंदिरा सिंह अनुराधा सिंह के साथ हीं रहती है। रविवार को मुंबई से दूरभाष पर अनुराधा सिंह उर्फ पिंकी ने बताया कि तीन मामाओं की वह अकेली भांजी है। गत वर्ष एक शादी समारोह में भाग लेने के लिए जब वह मजलिसुपर अपने मामा अशोक सिंह के यहां आई थी तो कोइ्र्र यह सोच भी नहीं सकता था कि एक दिन उनकी पिंकी हालीवुड की प्रथम भारतीय महिला एडिटर बनेगी।ड्ढr ड्ढr अनुराधा सिंह ने बताया कि जन्म से लेकर छह वर्ष तक वह ननिहाल में हीं रही। दिल्ली से वह लोक प्रशासन तथा मास कम्युनिकेशन और पूणे से फिल्म एडिटिंग विषय से स्नातकोत्तर कर चुकी है। वर्तमान में एक अमेरिकन फिल्म में एडिटिंग कर रही है। अनुराधा ने बताया कि परिवार के अन कंडिशनल स्पोर्ट तथा नानी व मामा के स्नेह के कारण आज वह इस मुकाम पर है। बिहार में पर्यटन स्थल की कोई कमी नहीं है, परंतु फिल्म जगत से जुड़े लोगों की दिलचस्पी नहीं रहने के कारण यहां शूटिंग नहीं होती। बिहार में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से वह वैशाली की नगरवधू आम्रपाली पर फिल्म बनाना चाहती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्लमडॉग के कलाकारों का ननिहाल भी गदगद