अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खतरे में डाल दी गुरुचाी की जान

गंभीर रूप से बीमार पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरन को दिल्ली के एम्स अस्पताल ले जा रहा विशेष विमान रविवार को बीच रास्ते से ही रांची लौट आया। गुरुजी को सांस लेने में काफी तकलीफ थी। वे ऑक्सीजन पर थे और उधर विमान में रखा गया सिलिंडर जवाब दे रहा था। गलतफहमी और संवादहीनता की वजह से कुछ घंटे के लिए ही सही झामुमो सुप्रीमो की जान खतर में जरूर डाल दी गयी थी। उस वक्त जहाज वाराणसी के ऊपर उड़ रहा था। बाद में शाम छह बजे ऑक्सीजन के अतिरिक्त सिलिंडर ले विमान शिबू सोरन को लेकर दुबारा दिल्ली के लिए उड़ा। रात करीब साढ़े नौ बजे गुरुजी को एम्स में भर्ती भी करा दिया गया। उनकी हालत फिलहाल स्थिर बतायी जाती है।ड्ढr एयर एंबुलेंस से हुए थे रवानाड्ढr शिबू की हालत नाजुक देख उन्हें दिल्ली के एम्स रफर किया गया था। इंफेक्शन के कारण उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। ऐसे में उन्हें ऑक्सीजन बैकअप के साथ ही एम्स ले जाने की सलाह दी गयी थी। दोपहर बाद दो बजे श्री सोरन को अपोलो अस्पताल से एक एंबुलेंस में रांची एयरपोर्ट लाया गया। वहां से एशिया एवियेशन के एयर एंबुलेंस से वे दिल्ली के लिए रवाना हुए। उसमें में रखा ऑक्सीजन सिलिंडर और अपोलो के कार्डियक एंबुलेंस से लिये गये सिलिंडर, दोनों में ही गैस कम थी। मरीज की गंभीर हालत और कम गैस की वजह से विमान पर सवार डॉक्टर ने रिस्क लेना मुनासिब नहीं समझा। पायलट को विमान रांची ले चलने को कहा गया।ड्ढr वापसी की खबर से मची अफरातफरीड्ढr उड़ान भरने के करीब एक घंटे बाद ही विमान के अचानक रांची लौटने की खबर से एयरपोर्ट पर अफरातफरी मच गयी। उनके समर्थकों और परिजन चिंतित हो उठे। बाद में तीन अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलिंडर के साथ विमान शाम छह बजकर पांच मिनट पर दुबारा दिल्ली के लिए उड़ा। साथ थे दो डॉक्टर-डॉ आनंद और डॉ विभूति।ड्ढr डा. भार्गव की निगरानी में हैं गुरुजीड्ढr गुरुाी के साथ उनके बेटे हेमंत भी दिल्ली गये हैं। बाद में सेवा विमान (आइसी 810) से शिबू की धर्मपत्नी रूपी सोरन और उनके सचिव एसएन पाल भी दिल्ली रवाना गये। दिल्ली से फोन पर हेमंत ने बताया कि रात 0 बजे गुरुजी को एम्स के सीसीयू में भर्ती कराया गया। डॉ बलराम भार्गव की निगरानी में उन्हें रखा गया है। जरूरी टेस्ट किये जा रहे। डा. भार्गव के मुताबिक सारी रिपोर्ट सुबह तक उन्हें मिल जायेगी। फिर औपचारिक तौर पर उनका इलाज शुरू किया जा सकेगा।ड्ढr पूरी जानकारी नहीं दी गयी: डॉ सिन्हाड्ढr अपोलो के चिकित्सा अधीक्षक डॉ पीडी सिन्हा ने कहा कि उनलोगों ने इंडियन एयरलाइंस के विमान से शिबू को दिल्ली ले जाने की सलाह दी थी। हालांकि बाद में जानकारी दी गयी कि एयर एबुंलेंस आ रहा है। उसमें ऑक्सीजन सिलिंडर में गैस कम होने की जानकारी नहीं दी गयी। यही वजह रही कि गुरुाी के साथ पर्याप्त मात्रा में सिलिंडर नहीं भेजा। हालांकि एहतियातन उन्होंने कार्डियक एंबुलेंस का सिंलिडर दे दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खतरे में डाल दी गुरुचाी की जान