DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनावी तारीखों का ऐलान, आचार संहिता लागू

वीं लोकसभा के गठन के लिए चुनावों की तारीखों का ऐलान सोमवार को चुनाव आयोग ने कर दिया। चुनाव 5 चरण में होंगे। पहले चरण का मतदान 16 अप्रैल और अंतिम चरण का मतदान 13 मई को होगा। वोटों की गिनती 16 मई को होगी। इस घोषणा के साथ ही चुनावी आचार संहिता आज से ही लागू हो गई है। मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि 2 जून तक 15वीं लोकसभा का गठन हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में 71 करोड़ 40 लाख मतदाता अपने मत का इस्तेमाल करेंगे और 40 लाख अफसर मतदान को सुचारू रूप से चलाने में सहयोग करेंगे। एन गोपालस्वामी ने कहा कि चुनाव के प्रत्याशियों को नामांकन पत्र के साथ दो हलफनामा भी दाखिल करना होगा। एक हलफनामा उनकी संपत्ति से संबंधित और दूसरा उनके आपराधिक मामलों से संबंधित होगा। पांच चरणों में चुनाव :-ड्ढr 16 अप्रैल- 104 सीटों के लिएड्ढr 23 अप्रैल- 141 सीटों के लिएड्ढr 30 अप्रैल- 107 सीटों के लिएड्ढr 7 मई- 85 सीटों के लिएड्ढr 13 मई- 86 सीटों के लिएड्ढr 16 तारीख को मतों की गिनती होगी और 2 जून से पहले 15वीं लोकसभा का गठन। पांच चरणों के चुनाव का राज्यवार वितरण :-ड्ढr जम्मू-कश्मीर, उत्तर प्रदेश- 5 चरण मेंड्ढr बिहार- 4 चरण मेंड्ढr महाराष्ट्र व बंगाल- 3 चरण मेंड्ढr 8 राज्यों में- 2 चरण मेंड्ढr 15 राज्यों में- 1 चरण में मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी ने इस बात की भी जानकारी दी कि परिसीमन का असर कुल सीटों पर पड़ा है। घोषणा के समय अन्य दो आयुक्त नवीन चावला और वाई वी कुरैशी भी मौजूद थे। मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि कार्यक्रम को अंतिम रूप देते समय कर्मचारियों की तैनाती में सहूलियत को ध्यान में रखा गया है। साथ ही परीक्षाआें, त्योहारों और फसल के मौसम को ध्यान में रखते हुए चुनाव कार्यक्रम तैयार किया गया। उन्होंने बताया इन चुनावों से पहले कुल 543 में से 4लोकसभा क्षेत्रों का पुनर्सीमांकन किया गया। समूची चुनाव प्रक्रिया में लगभग 40 लाख प्रशासनिक और 21 लाख पुलिस और अर्धसैनिक कर्मियों की जरूरत होगी। उन्होंने बताया कि 2004 की तुलना में इन चुनावों में मतदाताआें की संख्या 62 करोड़ 10 लाख से बढ़कर 71 करोड़ 40 लाख हो गई है। मतदान केन्द्रों की संख्या में 20.75 प्रतिशत का इजाफा हुआ है और इस बार आठ लाख 28 हजार बूथों पर वोट डाले जाएंगे। दो मुख्य चुनाव आयुक्तों की देखरेख में होने वाला यह पहला आम चुनाव होगा। गोपालस्वामी का कार्यकाल 20 अप्रैल को पूरा हो रहा है और उनके बाद चावला मुख्य चुनाव आयुक्त होंगे। 14वीं लोकसभा का कार्यकाल एक जून को खत्म हो रहा है। इसमें सत्तारूढ़ संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के 217, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के 185 और वाम मोर्चा के 60 सदस्य हैं। अन्य सदस्यों में 78 बाकी पार्टियों के और तीन निर्दलीय हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चुनावी तारीखों का ऐलान, आचार संहिता लागू