DA Image
8 जुलाई, 2020|1:00|IST

अगली स्टोरी

मौनी अमावस्या पर निशंक ने गंगा में डुबकी लगाई

मौनी अमावस्या पर निशंक ने गंगा में डुबकी लगाई

उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कुंभ में वीआईपी को अपनी यात्रा की अनदेखी करने की राज्य प्रशासन की अपील पर शुक्रवार को पूरी तरह से अमल करते हुए आम लोगों की भीड़ में घुस कर तड़के चार बजे गंगा में डुबकी लगाई।

निशंक बिना किसी सरकारी अमले के और बिना किसी को सूचित किए एक वाहन से देर रात अपनी पत्नी कुसुम कांता के साथ हरिद्वार के लिए अकेले ही रवाना हो गये और इसकी भनक सुरक्षाकर्मियों को भी नहीं लगी।

निशंक भोर में चार बजे हर की पैडी के पास जब अपनी पत्नी के साथ कपडे़ लेकर स्नान करने पहुंचे तो वहां तैनात सुरक्षाकर्मी और अन्य स्थानीय लोग भौंचक्के रह गए। सुरक्षाकर्मियों में उनको देखते ही अफरा तफरी मच गई लेकिन मुख्यमंत्री ने शांति से उन लोगों को समक्षाया और कहा कि वह पूरी सादगी और सामान्य तरीके से मौनी आमावस्या के दिन पुण्यलाभ लेने के लिए आये हैं।

मौनी अमावस्या के मुहुर्त के अवसर पर निशंक ने पहले से ही एकदम अकेले स्नान करने का मन बना लिया था और शुक्रवार को वह अपनी पत्नी के साथ हरिद्वार पहुंच गये। मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम की भनक राज्य कि किसी अधिकारी को नहीं लगी।

निशंक के स्नान के समय हर की पैडी पर सैकडों लोग उन्हीं के बगल में स्नान कर रहे थे लेकिन किसी को व्यवधान नहीं हो इसका पूरा पूरा ख्याल रखते हुए निशंक ने किसी भी श्रद्धालु को यह एहसास नहीं होने दिया कि वह राज्य के मुखिया हैं।

बाद में निशंक ने बातचीत में बताया कि भगवान के दरबार में कोई बडा़ या छोटा नहीं होता है। वह एक सामान्य श्रद्धालु के रूप में स्नान करने गए थे और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार उनकी पत्नी उनके साथ थीं।

राज्य प्रशासन द्वारा स्नान के पर्व पर वीआईपी के नहीं आने की अपील का पालन करते हुए उन्होंने पूरी सादगी से स्नान किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:मौनी अमावस्या पर निशंक ने गंगा में डुबकी लगाई