DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वर्ल्डकप पूर्व टीम की एकजुटता बोनस, चक दे इंडियाः ब्रासा

वर्ल्डकप पूर्व टीम की एकजुटता बोनस, चक दे इंडियाः ब्रासा

फिल्म चक दे इंडिया में आपस में लड़ती हॉकी खिलाड़ियों की एकजुट होकर मनचलों की पिटाई करने के बाद बोले गए कोच कबीर खान के डायलॉग से प्रेरित होकर राष्ट्रीय टीम के कोच ब्रासा ने अपने पैसों के लिए एकजुट हुई टीम की तारीफ करते हुए कहा कि यह वर्ल्डकप में उनके बेहतरीन प्रदर्शन का आधार बनेगा।

बगावत प्रकरण में हाकी खिलाड़ियों की जबर्दस्त एकजुटता को विश्व कप से पहले बोनस की तरह बताते हुए मुख्य कोच जोस ब्रासा ने कहा है कि ड्रेसिंग रूम का यह अभूतपूर्व माहौल विश्व कप में टीम की कामयाबी की कुंजी बनेगा लेकिन इसके लिए नेशनल स्टेडियम पर जल्दी अभ्यास शुरू करना जरूरी है।

क्या कोच की इस लाइन से आपको कुछ याद आता है? नहीं तो कोई बात नहीं! हम उनकी अगली लाइन से आपको रूबरू कराते हैं, उन्होंने कहा कि टीम की यही एकजुटता वर्ल्डकप में उनके बेहतरीन प्रदर्शन का आधार बनेगी। जी हां, आपने बिल्कुल सही पकड़ा हमारे हॉकी टीम के कोच को हॉकी पर आधारित शाहरुख खान की फिल्म 'चक दे इंडिया' कुछ ज्यादा ही भा गई। तभी तो उन्हें फिल्म में महिला हॉकी टीम के कोच कबीर खान के डायलॉग अच्छी तरह याद हैं।

भुगतान मसले पर पांच दिन तक चली खिलाड़ियों की हड़ताल खत्म होने के बाद राहत की सांस लेने वाले ब्रासा ने भाषा से कहा कि समझौता होने से सबसे ज्यादा खुशी कोच होने के नाते मुझे हुई है। पांच दिन बाद खिलाड़ी अभ्यास के लिए लौटे और सबसे अहम बात यह है कि उनका पूरा ध्यान अब विश्व कप पर है।

इस प्रकरण में विश्व कप के लिए टीम की तैयारियां बाधित होने की बात से इंकार करते हुए इस स्पेनिश कोच ने कहा कि इसका सबसे सकारात्मक पहलू यह है कि इससे खिलाड़ियों में वह एकजुटता पैदा हुई जो पहले कभी नहीं देखी गई।

आपने चक दे इंडिया फिल्म तो जरूर देखी होगी, फिल्म में जब कोच कबीर खान टीम से परेशान होकर इस्तीफा देते हुए आखिरी बार टीम को एक रेस्तरां में खाने के लिए ले जाते हैं तो वहीं यह डायलॉग बोलते हैं। इससे पहले टीम के सभी खिलाड़ी एक दूसरे से भिड़ रहे होते हैं। रेस्तरां में कुछ मनचले हॉकी खिलाड़ियों को छेड़ते हैं तो ऐसे में सभी खिलाड़ी एकजुट होकर इन मनचलों की खूब धुनाई कर देती हैं। हमारे हॉकी खिलाड़ियों ने भले ही किसी की धुनाई नहीं की लेकिन उन्होंने ऐसी हड़ताल की कि आखिरकार कई राज्य सरकारों, कॉरपोरेट कंपनियों और भारतीय ओलंपिक संघ ने उनके लिए पैसों की बरसात कर दी। जिस तरह से टीम ने एकजुटता दिखाकर अपने पैसे पा लिए उसी तरह एकजुटता दिखाकर फिल्म चक दे इंडिया की तरह वर्ल्ड कप भी जीत लाएं तो शायद कोच ब्रासा को फिल्म का एक और डायलॉग 'तुम्हारे पास 70 मिनट हैं और ये 70 मिनट तुम्हारी जिन्दगी के सबसे हसीन पल हैं, इन्हें तुमसे कोई नहीं छीन सकता' कहने का भी मौका मिल जाएगा।

कोच ब्रासा ने कहा कि खिलाड़ियों में जबर्दस्त एकता है और उनका मनोबल बहुत ऊंचा है। विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंटों में यह बहुत जरूरी है और हमें निस्संदेह इसका फायदा मिलेगा। हमारे खिलाड़ी शेरों की तरह मैदान पर विरोधी टीमों से लड़ेंगे।

कोच ने हालांकि यह भी कहा कि अब तैयारियों के लिए जल्दी से जल्दी नेशनल स्टेडियम मिलना बेहद जरूरी है तभी टीम को मेजबान होने का फायदा मिल सकेगा।

ब्रासा ने कहा कि मैंने आईओए अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी से इस बारे में बात की जिन्होंने कोई तारीख नहीं बताई। शायद उनका लक्ष्य पूरी तरह तैयार होने के बाद स्टेडियम हमें सौंपना है।

मुख्य कोच ने कहा कि हमें सिर्फ टर्फ और वाटर रेसिस्टेंट सिस्टम चाहिये। फ्लड लाइट मिल जाती है तो और भी अच्छा। इसके अलावा ड्रेसिंग रूम या वीआईपी रूम कब तैयार होते हैं, इससे हमें सरोकार नहीं लिहाजा हमारा लक्ष्य इसी सप्ताह के भीतर नेशनल स्टेडियम पर अभ्यास शुरू करने का है।

यह पूछने पर कि क्या अब वह अभ्यास के लिए नई रणनीति बनाएंगे, उन्होंने कहा कि इसकी कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों ने पहले काफी मेहनत की है। पांच दिन में से दो दिन विश्राम के थे लिहाजा तीन दिन का नुकसान हुआ है। हम वही रूटीन अपनायेंगे जो पहले चल रहा था। बस इसमें मामूली फेरबदल होगा।

ब्रासा ने कहा कि सारे खिलाड़ी बेहतरीन प्रदर्शन को बेकरार हैं और सभी का ध्यान अब सिर्फ विश्व कप पर है। एक कोच के लिए यह सुखद संकेत है कि उसके खिलाड़ी लक्ष्य के प्रति एकाग्र है।

खिलाड़ियों की डाइट को लेकर पहले भी शिकायत कर चुके मुख्य कोच ने इस मामले को अब तूल देने से इंकार करते हुए कहा कि भले ही मेरी समस्या पूरी तरह नहीं सुलझ सकी है लेकिन इसे मुद्दा बनाने का कोई फायदा नहीं। हमें दिल्ली आने का इंतजार है। उम्मीद है कि वहां ये समस्या भी सुलझ जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वर्ल्डकप पूर्व टीम की एकजुटता बोनस, चक दे इंडियाः ब्रासा