अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कब-कब हुई पाक में क्रिकेट की किरकिरी

मई 2002 : न्यूजीलैंड की टीम एक आत्मघाती हमले के बाद वापस चली गई। इस हमले में 14 लोग मार गए थे। ब्लास्ट उस समय हुआ जब दूसरा टेस्ट शुरू होने वाला था। इसके बाद सीरीा रद्द हो गई। मार्च 2008 : आत्मघाती हमलों के बाद अपने खिलाड़ियों की सुरक्षा के मद्देनजर ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान का दौरा स्थगित किया। जुलाई : ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को चैंपियंस ट्रॉफी के लिए पाकिस्तान दौर पर न जाने की सलाह दी गई। न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान में वनडे सीरीा भी रद्द की। अगस्त : आईसीसी ने 13 महीने के लिए चैंपियंस ट्रॉफी स्थगित की। सुरक्षा कारणों से 8 में से 5 टीमों ने हिस्सा न लेने की पुष्टि कर दी थी। सितम्बर : पाकिस्तानी क्रिकेट अधिकारियों ने ऑस्ट्रेलिया पर भेदभाव का आरोप लगाया। नई दिल्ली में कई बम ब्लास्ट के बाद भी ऑस्ट्रेलिया ने भारत में टेस्ट सीरीा खेलने की हामी जो भर दी थी। नवम्बर : पाकिस्तान क्रिकेट चीफ ने माना की मुम्बई में आतंकवादी हमले के बाद भारत के पाकिस्तान आने की बहुत कम संभावना है। इस आतंकवादी हमले ने लगभघ 170 लोग मार गए थे। दिसम्बर : दोनों देशों में राजनैतिक तनाव और खिलाड़ियों की सुरक्षा के मद्देनजर सरकार से अनुमति न मिलने के बाद भारत ने पाकिस्तान का दौरा रद्द कर दिया। हां, इसके बाद श्रीलंका की टीम पाकिस्तान जाने को तैयार हो गई थी। जनवरी 200: श्रीलंका ने पाकिस्तान में तीन वनडे और दो टेस्ट मैच खेलने की पुष्टि की थी। श्रीलंकाई कप्तान माहेला जयवर्धने ने खिलाड़ियों से सुरक्षा की चिंता छोड़ खेल पर ध्यान लगाने को कहा था। 20 जनवरी से तीन वनडे और दो टेस्ट की सीरीा शुरू हुई थी। हां, इसके बीच भारत के साथ एक वनडे सीरीा भी श्रीलंका ने अपने घर में खेली थी। फरवरी : आईसीसी ने चैंपियंस ट्रॉफी की मेजबानी पाकिस्तान में न करने का फैसला लिया। आईसीसी के कई सदस्यों ने पाकिस्तान का दौरा करने पर अपनी असहमति जताई थी। नए आयोजन स्थल के बार में फैसला अभी होना है। अन्य हमले 5 सितम्बर, 1म्यूनिख ओलंपिक) ब्लैक सेप्टेम्बर गुट ने म्यूनिख ओलंपिक में इजरायली एथलीटों पर हमला किया। इसमें 11 एथलीट, एक जर्मन पुलिस और 8 में से पांच हमलावर मार गए। यह हमला ओलंपिक गांव में हुआ था। हमलावरों ने सबसे पहले इजरायली वेटलिफ्टर और कुश्ती कोच मारा। उसके बाद एथलीटों और अधिकारियों को बंधक बनाया। उनकी मांग थी इजरायली जेलों में कैद 200 युद्धबंदियों की रिहाई। बाद में ये हमलावर म्यूनिख मिलिट्री एयरपोर्ट से जर्मनी से भागने की कोशिश में थे कि पुलिस ने फायरिंग शुरू की। दोनों तरफ से गोलीबारी हुई। सभी बंधक दो हेलिकॉप्टरों में मार गए। इन दोनों हेलिकॉप्टरों में इन्हें बंधक बनाया हुआ था। 26 मई, 2006 (इराक के टेनिस खिलाड़ी और कोच की हत्या) बंदूकधारियों ने इराक राष्ट्रीय टेनिस टीम के कोच और दो खिलाड़ियों की राजधानी बगदाद में हत्या कर दी। इस हमले का क्या कारण था इसके बार में ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई थी। वैसे वहां मौजूद लोगों ने कहा था कि ये तीनों शॉर्ट्स में थे। आतंकवादियों ने एक दिन पहले ही शॉर्ट्स ने पहनने की धमकी भी दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कब-कब हुई पाक में क्रिकेट की किरकिरी