DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में एक लाख करोड़ का निजी निवेश!

खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में एक लाख करोड़ का निजी निवेश!

सरकार ने अगले पांच साल के दौरान खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में निजी क्षेत्र और वित्तीय संस्थानों से एक लाख करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित करने की योजना बनाई है।

सीआईआई के रिटेल सम्मेलन के मौके पर मंगलवार को खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री सुबोध कांत सहाय ने कहा कि हम खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में निजी क्षेत्र से एक लाख करोड़ रुपये का निवेश आकर्षित करना चाहते हैं। संभवत: इसमें से 50 प्रतिशत निवेश वित्तीय संस्थान कर सकते हैं।

सहाय ने कहा कि सरकार कषि क्षेत्र के विकास पर ध्यान देना चाहती है। कृषि उत्पादों की बर्बादी को रोकने के लिए सरकार बड़े फूड पार्क, शीत भंडारण गह की स्थापना के अलावा शोध एवं विकास पर निवेश करेगी। साथ ही लोगों को प्रशिक्षित करने पर भी ध्यान दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सरकार का इरादा इस क्षेत्र में दस प्रतिशत निवेश करने का है। इस उद्योग में निवेश के लिए हम ज्यादा से ज्यादा निजी और विदेशी भागीदारों को आकर्षित करेंगे।

सहाय ने बताया कि सरकार ने 11वीं पंचवर्षीय योजना के अंत तक देशभर में 30 मेगा फूड पार्क स्थापित करने के लिए इच्छा-पत्र (ईओआई) मांगे हैं। उन्होंने कहा कि 11 वीं योजना के लिए हमारा आवंटन 5,000 करोड़ रुपये का है। हमारी योजना 30 फूड पार्क स्थापित करने की है।

उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादों की बर्बादी को रोकने के लिए हम शीत भंडार श्रृंखला भी स्थापित करना चाहते हैं। दस बड़े फूड पार्कों को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है, जिसमें से छह परिचालन में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में एक लाख करोड़ का निजी निवेश!