अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान सब बंद!

दिल्ली सरकार के लिए राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान यातायात को दुरुस्त रखना सबसे बड़ी चुनौती होगी। खेलों के दौरान सड़कों पर ट्रैफिक के दबाव को कम करने के लिए दिल्ली सरकार तमाम पहलुओं पर गंभीरता से विचार कर रही है। सरकार ने इसके लिए खेलों के दौरान स्कूल, कॉलेज यहां तक कि अदालतों को भी बंद रखने की योजना तैयार की है। इस मुद्दे पर पिछले दिनों उपराज्यपाल के साथ हुई एक बैठक में भी चर्चा हुई। राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन अगले वर्ष 3 से 14 अक्तूबर के बीच होगा। खेल का उद्घाटन समारोह जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में होगा। इस क्षेत्र के कार्यालयों को भी कम से कम उद्घाटन के दिन बंद करने की योजना है। इसके अलावा प्रगति मैदान, विज्ञान भवन आदि जगहों पर होने वाले सार्वजनिक कार्यक्रमों पर खेल के दौरान रोक लगाने की योजना है, जिससे कम से कम भीड़ इकट्ठी हो। राजधानी में मेट्रो को छोड़ दें तो दिल्ली सरकार अभी तक सुविधापूर्ण सार्वजनिक परिवहन सेवा मुहैया नहीं करा पाई है। नतीजतन राजधानी में सड॥कों पर निजी वाहनों का दबाव बढ़ता जा रहा है। इसके चलते सड़कों पर आमतौर पर जबरदस्त जाम की स्थिति बन जाती है। विशेषकर यमुनापार आने-ााने के लिए जिन रास्तों का इस्तेमाल होता है उनपर सुबह और शाम के वक्त ट्रैफिक की हालत बदतर हो जाती है। एक ओर सरकार फ्लाइओवर, पुल और बाइपास का निर्माण कर रही है, तो दूसरी ओर दिन दूनी रात चौगुनी रफ्तार से वाहनों की संख्या में इजाफा हो रहा है। सूत्रों के मुताबिक, सरकार ने उपराज्यपाल को अपनी इस मंशा से अवगत करा दिया है कि वह खेलों के दौरान स्कूल, कॉलेज वगैरा बंद रखना चाहती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान सब बंद!