DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क पर नवजात के साथ चार घंटे पड़ी रही विक्षिप्त

प्रसव के दौरान वह चार घंटे तक सड॥क पर पड़ी कराहती रही लेकिन किसी को उस पर तरस नहीं आया। भला हो उस चायवाले का जिसने रीलाइट अस्पताल के डॉक्टर को इसकी खबर दी। डॉक्टर ने नर्स को वहाँ भेजा जिसने महिला की नाल काटकर बच्चे को अलग किया। इसके बाद मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला बेतहाशा दौड़ पड़ी। चायवाले ने उसे पकड़ने की कोशिश की लेकिन असफल रहा। पुलिस ने नवजात बच्चे को चाइल्ड लाइन भेज दिया है।ड्ढr बुधवार तड़के खुर्रमनगर पुलिस चौकी के पास स्थित एक कॉम्पलेक्स के बाहर विक्षिप्त महिला प्रसव के दर्द से चिल्ला रही थी। साढ़े आठ बजे तक किसी को उसकी चीख-पुकार नहीं सुनाई पड़ी। बाद में मुख्तार अपनी चाय की दुकान पर जा रहा था कि उसकी नजर महिला पर पड़ी। महिला की बिगड़ती अवस्था देख उसने दौड॥कर इसकी सूचना खुर्रमनगर चौकी और पास ही स्थित रीलाइट अस्पताल के डॉक्टर आाम अली को दी। डॉक्टर ने एक नर्स को वहाँ भेजा। जिसने ज्यों ही नाल काटी विक्षिप्ता भागने लगी। इतने में मौके पर तमाम भीड़ इकट्ठा हो गई। डॉक्टर के अनुसार महिला ने सुबह करीब चार से पाँच बजे के बीच शिशु को जन्म दिया। मुख्तार उसे पकड़ने में असमर्थ रहा। बाद में नवजात बच्चे को पुलिस ने चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया। मुख्तार का कहना है कि महिला अक्सर वहाँ घूमती-फिरती थी। उसने कई बार उसे चाय और बिस्कुट भी दिया। इस साल चाइल्ड लाइन को चार नवजात लावारिस मिले हैं। इनमें एक लड॥की जनवरी, एक लड॥का और लड॥की फरवरी में और चौथा बुधवार को मिला है। चाइल्ड लाइन समन्वयक ने बताया कि फिलहाल नवजात ठीक है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सड़क पर नवजात के साथ चार घंटे पड़ी रही विक्षिप्त