DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब जदयू का आपरेशन प्रशर शुरू

जदयू ने भाजपा पर दबाव बनाने की रणनीति शुरू कर दी है। उसने बिहार में भाजपा की दो सीटों पर भी दावा ठोक दिया है। प्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने कहा है कि बिहार में जदयू 26 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारगा और अगले दो-तीन दिनों में उसकी विधिवत घोषणा कर दी जाएगी। जदयू ने पहले 28 सीटों पर अपना हक जताया था। बताया जाता है कि भाजपा की परम्परागत दो अल्पसंख्यक सीट किशनगंज और मधुबनी पर जदयू की नजर है। जदयू किशनगंज, भागलपुर, मोतिहारी, छपरा और नवादा सीट को भाजपा की कमजोर कड़ी मान रहा है।ड्ढr ड्ढr पिछले चुनाव में किशनगंज में राजद के तस्लीमुद्दीन ने भाजपा के शाहनवाज हुसैन को डेढ़ लाख से अधिक मतों से पराजित किया। यहां मुस्लिम आबादी 67 फीसदी है। मधुबनी सीट से कांग्रस के डा. शकील अहमद ने भाजपा के हुकुमदेव नारायण यादव को 87 हजार मतों से पराजित किया था। जदयू चाहेगा कि अल्पसंख्यक कल्याण का उसका नया चेहरा सामने रख जोखिम को न्यूनतम किया जाए। ललन सिंह ने कहा कि बिहार के प्रभारी अरुण जेटली की मौजूदगी में भाजपा से दो दौर की बात हो चुकी है। जदयू ने 12 फरवरी को ही उन्हें 26 सीटों की सूची सौंप दी है। भाजपा ने कहा था कि उन्हें सूचित कर दिया जाएगा।ड्ढr ड्ढr अबतक कोई सूचना नहीं मिलने से जदयू यह मान रहा है कि भाजपा को 26 सीटों की उनकी दावेदारी स्वीकार है। श्री सिंह ने कहा कि सीटों की संख्या से अधिक एनडीए की जीत महत्वपूर्ण है। दिल्ली पर कब्जा करना है तो सीट टू सीट आपरशन करना होगा और यूपीए को कैसे पराजित किया जाए इसकी योजना बननी चाहिए। उधर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि अगर भाजपा के साथ देशव्यापी तालमेल नहीं भी हुआ तब भी जदयू बिहार, यूपी, मध्यप्रदेश, राजस्थान, पूवरेत्तर राज्यों, लक्षद्वीप, कर्नाटक और गुजरात समेत कम से कम दस राज्यों में चुनाव लड़ेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब जदयू का आपरेशन प्रशर शुरू