अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आग से एक दर्जन मवेशियों की मौत, 8 आशियाने राख

जिले के दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में बुधवार की रात हुई भीषण अग्निकांड की घटनाओं में जहां एक दजर्न मवेशियों की झुलसकर मौत हो गयी, वहीं 8 रिहायशी झोपड़ियां भी जलकर राख हो गयीं। इस दौरान संबंधित गांवों में अफरा-तफरी मच गयी। काफी मशक्कत के बाद विकराल आग पर काबू पाया जा सका। सूचना के बाद संबंधित हलके के लेखपाल व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे।

हिसं रेवतीपुर के अनुसार, सुहवल थाना क्षेत्र के महादेवा गांव अन्तर्गत आशा टोला पूर्वी निवासी शिवशंकर यादव की रिहायशी झोपड़ी में बुधवार की रात करीब 11 बजे रहस्यमय परिस्थितियों में आग लग गयी। आग की लपटों ने पास ही मौजूद बाबू लाल यादव, कन्हैया यादव व रामलाल यादव की झोपड़ियों को भी अपनी चपेट में लिया।

इस भीषण अग्निकांड में जहां सात मवेशियों की झुलसकर मौत हो गयी, वहीं 6 गंभीर रूप से झुलस गये। सूचना के बाद गुरुवार को हल्के के लेखपाल राजाराम, ग्राम पंचायत अधिकारी कवीन्द्र राय व सहायक विकास अधिकारी समेत सांसद राधेमोहन सिंह मौके पर पहुंचे। सांसद ने पीड़ित परिवारों को तत्काल पांच हजार नगद रुपयों की आर्थिक मदद दी। प्रशासनिक अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण कर इसकी रिपोर्ट उच्चधिकारियों को भेज दी है।

हिसं बाराचवर के अनुसार, बरेसर थाना क्षेत्र के नसीराबाद गांव में बुधवार की रात करीब साढ़े 11 बजे उस समय अफरा-तफरी मच गयी, जब कुबेर राजभर व शिवशंकर राजभर की दो-दो झोपड़ियों में भीषण आग लग गयी। इस दौरान झोपड़ी में खूंटे बंधी कुबेर राजभर की एक भैंस व पड़िया की झुलसकर मौके पर मौत हो गयी। झोपड़ियों में मौजूद अन्य सामानों को बचाने में कुबेर और उसकी पत्नी सुदामी भी मामूली रूप से झुलस गये।

अगलगी की इस घटना में हजारों की क्षति बतायी जा रही है। गुरुवार को हल्के के लेखपाल और पशु अस्पताल के कम्पाउण्डर मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद इसकी रिपोर्ट तहसील के अधिकारियों को भेजी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आग से एक दर्जन मवेशियों की मौत, 8 आशियाने राख