class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लद्दाख3 ईडियट्स

लद्दाख3 ईडियट्स

‘3 ईडियट्स’ की खूबसूरत लोकेशंस में लद्दाख भी एक है। लद्दाख की खूबसूरती देखते ही बनती है। लद्दाख की शूटिंग के विषय में 3 ईडियट्स के मुख्य कलाकारों में से एक शरमन जोशी ने बताया, ‘इस फिल्म के निर्माता विधु विनोद चोपड़ा और निर्देशक राजू हीरानी फिल्म के एक विशेष सीक्वेंस के लिए लद्दाख के खूबसूरत दृश्य फिल्माना चाहते थे। पहली बार जब वहां शूटिंग हुई, तब बात नहीं बनी। लद्दाख की जगह दूसरे लोकेशंस के विषय में विचार किया जाने लगा, लेकिन लद्दाख की खूबसूरती का कोई दूसरा विकल्प नहीं मिल सका।’

विधु विनोद चोपड़ा और हीरानी लद्दाख के सौंदर्य से इतने मुग्ध थे कि उन्होंने वहां दोबारा शूटिंग करने की बात सोची और इसके लिए पूरे एक वर्ष तक इंतजार किया। लद्दाख में पहली बार ‘3 ईडियट्स’ के लिए अगस्त 2007 में शूटिंग की कोशिश गई थी। पूरी यूनिट ‘जैंकांग’ स्थान पर गई, जो समुद्र की सतह से 1800 फुट ऊपर है। वहां का सौन्दर्य तो आश्चर्यजनक था, पर यात्रा इतनी कठिन थी कि दु:स्वप्न की तरह लग रही थी। 300 लोगों के लिए रहने-खाने की व्यवस्था करनी थी, पर वहां 20-30 कमरे ही उपलब्ध थे। टैंट्स का इंतजाम करना पड़ा। अमृतसर से इलेक्ट्रिक ब्लैंकेट्स मंगाने पड़े थे।

पहले दिन शूटिंग कैंसिल कर देनी पड़ी, क्योंकि घने बादल थे। दूसरे दिन का इंतजाम किया गया तो मौसम और खराब हो गया था। कुछ समय बाद बर्फबारी हो गई। शूटिंग कैंसिल करनी पड़ी। शूटिंग की दूसरी कोशिश एक वर्ष बाद अगस्त 2008 में की गई और शूटिंग सफल रही। इस बार वहां के लोकप्रिय पर्यटन स्थल ‘त्सोमा रिरि’ स्थान पर शूटिंग की गई। इस स्थान की खूबसूरती के विषय में यूनिट के लोगों ने जितना सुना था, उससे ज्यादा खूबसूरत नजर आ रहा था।

शरमन जोशी के अनुसार, ‘त्सोमो रिरि में हम कर्जक टाउन में ठहरे थे। वहां से त्सोमो रिरि लेक, जहां हमें शूटिंग करनी थी, एक घंटे का सफर था। वहां सिर्फ एक मंजिला होटल था, एक सिम्पल रूम था और एक कॉमन डाइनिंग एरिया। वहां हमने गरम नूडल्स खाए। लद्दाख फिल्म का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। वहां हम आठ दिन रहे। आप चाहे जितने मजबूत और फिट हों, आप को पर्वतों के नियमों के अनुसार चलना पड़ेगा। वहां ऊंचाई पर हवा में ऑक्सीजन कम होती है, इस कारण आदमी चाहे कितना फिट हो, बीमार पड़ सकता है।’ हम जब लद्दाख के मुख्य शहर लेह लौटे, तब हमने बाइसिकिल्स खरीदीं और सीन देखने निकल पड़े। वहां के स्टॉल्स पर हमने वहां के स्थानीय काबा का स्वाद लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लद्दाख3 ईडियट्स