DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिलानी ने मुशर्रफ को दी उपचुनाव लड़ने की खुली चुनौती

गिलानी ने मुशर्रफ को दी उपचुनाव लड़ने की खुली चुनौती

प्रधानमंत्री युसूफ रजा गिलानी ने पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ को देश में किसी उपचुनाव में खड़े होकर उन्हें लोकप्रियता की कसौटी पर खरा उतरने की चुनौती दी है।

गिलानी ने चेताया कि जिन लोगों ने भी संविधान का उल्लंघन किया है उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। बंदरगाह शहर ग्वादर में बुधवार को एक सभा को संबोधित करते हुए गिलानी ने कहा कि मुशर्रफ को हिम्मत है तो वह देश में कोई उपचुनाव लड़ कर दिखाएं और सच्चे अर्थों में साबित कर दिखाएं कि अब भी वह लोकप्रिय हैं।

गिलानी ने कहा कि सभी सैन्य शासक भ्रष्टाचार के खात्मे के नाम पर सत्ता पर काबिज हो जाते हैं, लेकिन बाद में सत्ता का उपयोग खुद को मजबूत करने के लिए एक साधन के रूप में करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि मुशर्रफ को संविधान को निरस्त करने और सैन्य अभियान के आदेश के कारण बलूच राष्ट्रवादी नेता नवाब अकबर बुगती की 2006 में मुत्यु का परिणाम भुगतना पड़ेगा। महाभियोग से बचने के लिए मुशर्रफ ने बीते वर्ष राष्ट्रपति के पद से इस्तीफा दे दिया था और गत अप्रैल से वह विदेश में रह रहे हैं।

वर्ष 2007 में परवेज मुशर्रफ ने जो आपातकाल लगाया था उसे सुप्रीम कोर्ट ने अवैध और असंवैधानिक करार दिया था, जिसके बाद पाकिस्तान की विभिन्न अदालतों में उनके खिलाफ कई मामले दायर किए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गिलानी ने मुशर्रफ को दी उपचुनाव लड़ने की खुली चुनौती