class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2010 में क्या है खास

2010 में क्या है खास

वर्ष 2009 विदा हुआ और अपनी तमाम सौगातों के साथ नए वर्ष का सूरज दस्तक दे रहा है। हर पल घटने वाली नई घटनाओं के बीच इस वर्ष कुछ गतिविधियां पूर्व निर्धारित हैं। इनमें कॉमनवेल्थ खेल और कुंभ प्रमुख रूप से उल्लेखनीय हैं। भारत अक्टूबर 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी करने जा रहा है और जनवरी में हरिद्वार में 14 वर्ष बाद आयोजित होने वाले महाकुंभ के लिए भी तैयारियां जोरों पर हैं। अगले साल की कुछ और घटनाओं का ब्यौरा इस प्रकार है।

भारत को अपनी पहली नेरपा-आकुला-द्वितीय श्रेणी परमाणु क्षमतायुक्त लड़ाकू पनडुब्बी मार्च तक मिल जाएगी। रूस यह पनडुब्बी 65 करोड़ डॉलर के एवज में दस साल के लिए पट्टे पर भारत को देगा। इसे भारतीय नौसेना में आईएनएस चक्र के नाम से शामिल किया जाएगा।

आकुला-द्वितीय श्रेणी की यह 12 हजार टन वजनी परमाणु क्षमता वाली पनडुब्बी सबसे शांत और घातक रूसी आक्रामक पनडुब्बियों में गिनी जाती है।

सार्वभौम मानवीय मूल्यों और अपनी लेखनी से गरीबों की आवाज उठाने वाले नोबेल पुरस्कार विजेता महाकवि रवींद्र नाथ टैगोर को सम्मान प्रदान करते हुए यूनेस्को अगले वर्ष अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनकी 150वीं जयंती मनायेगा। यूनेस्को के कार्यकारी बोर्ड ने इस संबंध में सरकार के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है।

अगले साल बाघों पर होने वाले विश्व शिखर सम्मेलन की भारत पहली बार मेजबानी करेगा। वर्ष 2010 में अक्टूबर या नवंबर में रणथंभौर में बाघों पर होने वाले विश्व शिखर सम्मलेन में विश्व के प्रख्यात संगठन ग्लोबल टाइगर इनिशएटिव सहित पूरी दुनिया के लगभग 200 विशेषज्ञ भाग लेंगे।

इस शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रतिनिधियों के समझ रणथंभौर के 44 से अधिक बाघों को रोल मॉडल के तौर पर दिखाया जायेगा। देश की अत्यधिक लोकप्रिय कॉमिक सीरीज अमर चित्र कथा वर्ष 2010 में टेलीविजन पर जीवंत होगी।

अमर चित्र कथा (एसीके) मीडिया और टर्नर इंटरनेशनल ने इस सीरीज पर दो एनीमेशन फिल्में और 26 कड़ियों का एक धारावाहिक बनाने के लिए भागीदारी की है।

द ब्लेयर विच प्रोजेक्ट को पछाड़कर सिनेमा के इतिहास की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली हॉरर फिल्म पैरानॉरमल ऐक्टिविटी आठ जनवरी 2010 से भारतीय दर्शकों के रूबरू होगी।

एक साधारण से कैमरे की मदद से महज 15 हजार डॉलर में बनी यह फिल्म सिर्फ अमेरिकी बॉक्स ऑफिस पर 10 करोड़ डॉलर से ज्यादा की कमाई कर चुकी है।

देश की सबसे लोकप्रिय कारों में शुमार और आम आदमी की कार कहलाने वाली मारुति 800 तथा जेन 2010 में इतिहास का हिस्सा बन जाएंगी। कार बनाने वाले कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड एक अप्रैल 2010 से इन कारों को दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता सहित देश के उन 11 बड़े शहरों में बेचना बंद कर देगी जहां कार्बन (स्रोत में उष्मा लिखा है) उत्सर्जन के मानक भारत स्टेज चार (बीएस4) को लागू किया जा रहा है।

जिन शहरों में बीएस फोर मानक लागू होंगे वहां मारुति नहीं बेची जाएगी। इस कार को बीएस 4 के अनुरूप बनाने मे अधिक व्यय होगा साथ ही इसका डिजाइन भी बदलना होगा। इसीलिए मारूति को चरणबद्ध तरीके से हटा दिया जाएगा।

एयरपोर्ट एक्सप्रेस लिंक भारत का पहला हाई स्पीड मेट्रो रेल ट्रैक होगा, जिसका निर्माण फरवरी 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों से पहले पूरा हो जाएगा। करीब 43 किमी लंबे इस रूट पर मैट्रो 160 किमी की रफ्तार से दौड़ सकेगी, हालांकि दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन ने इस रूट पर स्पीड 135 किमी प्रति घंटा तय की है।

वर्तमान में दिल्ली मेट्रो द्वारा तैयार ट्रैक से मेट्रो अधिकतम 80 से 90 किमी की रफ्तार से चलती है। यह देश का ऐसा पहला रेलवे ट्रैक होगा जिसके नीचे कंक्रीट नहीं होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2010 में क्या है खास