DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुरक्षा तंत्र की नाकामी पर बरसे ओबामा

सुरक्षा तंत्र की नाकामी पर बरसे ओबामा

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मुल्क की सुरक्षा एजेंसियों को अमेरिकी विमान को बम से उड़ाने की कोशिश के सिलसिले में पहले से ही जानकारी होने की बात पता लगने पर इस मानवीय तथा तंत्रगत विफलता पर बरसते हुए जांच की प्रारम्भिक रिपोर्ट 31 दिसम्बर तक सौंपने को कहा है।

इस नाकामी को अस्वीकार्य बताते हुए ओबामा ने विमान को बम से उड़ाने की नाकाम कोशिश के मामले की प्रारम्भिक जांच रिपोर्ट 31 दिसम्बर तक सौंपने को कहा है। मीडिया में इस आशय की खबरें आई थीं कि देश की खुफिया एजेंसी सीआईए को नाइजीरियाई संदिग्ध आतंकवादी उमर फारूक अब्दुलमुतालब के बारे में पहले से ही जानकारी थी लेकिन उस सूचना को दूसरी एजेंसियों से साझा नहीं किया गया था।

ओबामा ने कहा जब हमारी सरकार को उस कट्टरपंथी के बारे में जानकारी थी और उसे अन्य एजेंसियों के साथ साझा नहीं किया गया और न ही उस पर कार्रवाई की गई, तो इसे तंत्र की नाकामी मानना चाहिए। ओबामा ने कहा कि करीब 300 यात्रियों की जान लेने का इरादा लिए एक कट्टरपंथी विस्फोटक लेकर विमान में बैठने में कामयाब हो गया। मैं इसे पूरी तरह अस्वीकार्य मानता हूं। उन्होंने कहा कि मैंने जो जांच करने का आदेश दिया है, वे हमें निश्चित रूप से अधिक जानकारियां मुहैया कराएंगी, लेकिन जो कुछ सामने आया है वह मानवीय और तंत्रगत नाकामियों का मिश्रण था जिनसे सुरक्षा को भयंकर खतरा पैदा हुआ।

सीआईए के पास अब्दुलमुतालब के पिता तथा एजेंसी के एक अधिकारी के बीच बैठक का विस्तृत विवरण था जिसे वर्जीनिया में सीआईए के मुख्यालय में भेजा गया था। चैनल के मुताबिक इस रिपोर्ट को खुफिया तंत्र के साथ साझा नहीं किया गया। इसके बाद इसे लेकर चिंताएं और बढ़ गई हैं कि 11 सितम्बर 2001 को देश में टिवन टावर और पेंटागन पर हुए हमलों के कारण बढ़े दबाव के बावजूद हिफाजती एजेंसियों के बीच तालमेल में सुधार नहीं हुआ।

ओबामा ने इस मामले पर लगातार दूसरे दिन अपने बयान में कहा हमें इस प्रकरण से सबक लेते हुए अपने तंत्र की खामियां जल्द दूर करने की जरूरत है, क्योंकि हमारी सुरक्षा और हमारे लोगों की जिंदगी दांव पर है। ओबामा ने सोमवार को आतंकवादियों की वाच लिस्ट प्रणाली तथा विमान यात्रा जांच की समीक्षा करने निर्देश जारी किए थे। साथ ही उन्होंने व्हाइट हाउस को प्रारम्भिक रिपोर्ट 31 दिसम्बर तक उपलब्ध कराने के निर्देश भी जारी किए थे।

अब्दुलमुतालब के पिता द्वारा अफ्रीका में अमेरिकी अधिकारियों को अपने बेटे के कट्टरपंथी विचारधारा से प्रेरित ख्यालात के बारे में पहले ही बताए जाने सम्बन्धी खबरों का जिक्र करते हुए ओबामा ने कहा ऐसा लगता है कि हमारे खुफिया तंत्र के एक हिस्से को इस बात की जानकारी हफ्तों पहले ही हो चुकी थी लेकिन उसे प्रभावी ढंग से साक्षा नहीं किया गया। वरना अब्दुलमुतालब को नो-फ्लाई सूची में शामिल कर लिया जाता।

विमान को बम से उड़ाने की कोशिश की जांच की प्रारम्भिक रिपोर्ट 31 दिसम्बर तक सौंपने के निर्देश देते हुए ओबामा ने इससे सम्बन्धित सभी पूर्व सूचनाओं की समीक्षा करने को भी कहा है। इस सिलसिले में विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री, अटॉर्नी जनरल, ऊर्जा मंत्री तथा हवाई अड्डों पर यात्रियों की जांच का काम देखने वाली नेशनल इंटेलिजेंस के निदेशक को अधिसूचना जारी की गई है।

व्हाइट हाउस के मुताबिक ओबामा ने अधिसूचना में कहा घरेलू तथा अंतरराष्ट्रीय विमान यात्रा से सम्बन्धित सभी वैमानिकी जांच प्रौद्योगिकियों तथा प्रक्रियाओं पर इस समीक्षा के तहत गौर किया जाना चाहिए। ओबामा ने आतंकवादियों के निशाने पर आए लोगों की फाइलों तथा इससे सम्बन्धित सूची में लोगों को शामिल करने की प्रक्रिया और इसके लिए तय वांछनीयताओं की समीक्षा करने को भी कहा है।

अधिसूचना में ओबामा ने 25 दिसम्बर या उससे पहले तक देश की सरकारी फाइलों में दर्ज उन सभी खुफिया या अन्य सूचनाओं की समीक्षा करने को भी कहा है जो विमान को विस्फोट कर उड़ाने की कोशिश या ऐसा करने के आरोपी उमर फारूक अब्दुलमुतालब से सम्बन्धित हों।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुरक्षा तंत्र की नाकामी पर बरसे ओबामा