class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुराने घावों को हरा करेगी मेरी फिल्म : निखिल आडवाणी

पुराने घावों को हरा करेगी मेरी फिल्म : निखिल आडवाणी

निर्देशक निखिल आडवाणी कहते हैं कि ब्रिटेन में सिख समुदाय के बीच विभिन्न पीढियों के सांस्कृति आत्मसात पर आधारित उनकी अगली फिल्म 'पटियाला हाउस' कुछ हद तक 1979 के साउथॉल में हुए जातीय दंगों पर आधारित है। उन्होंने कहा कि यह फिल्म एक तरह से पुराने जख्मों को हरा करेगी।

आडवाणी ने फिल्म के कुछ दृश्य लंदन के साउथॉल गुरुद्वारा में फिल्माए हैं। वैसे इस गुरुद्वारे के अंदर कैमरा ले जाने की इजाजत नहीं है लेकिन जब साउथॉल गुरुद्वारा समिति ने फिल्म बनाने के पीछे के मकसद को जाना और उन्हें पता चला कि ऋषि कपूर और अक्षय कुमार इसमें अभिनय कर रहे हैं तो वे इस फिल्म परियोजना में मदद के लिए तैयार हो गए।

'कल हो ना हो' (2003) जैसी सफल फिल्म बना चुके आडवाणी ने कहा, ''उन्होंने गुरुद्वारा के दरवाजे खोल दिए थे और 'पटियाला हाउस' को प्रामाणिक बनाने में मदद देने के लिए कहा था। गुरुद्वारा से जुड़े सिख समुदाय के कई वरिष्ठ लोग 1979 में साउथॉल में हुए जातीय दंगों के शिकार हो चुके हैं।''

उन्होंने कहा, ''जब मैंने अपनी फिल्म की कहानी उन्हें बताई तो उनकी आंखों में आंसू थे। 'पटियाला हाउस' उनके लिए जख्मों को हरा करने की तरह होगी लेकिन इस कहानी को अवश्य सामने आना चाहिए।''

आडवाणी कहते हैं कि 'पटियाला हाउस' मुख्य रूप से एक पिता और पुत्र की कहानी है। 21 दिसम्बर से फिल्म की शूटिंग शुरू हो गई और चार फरवरी तक शूटिंग पूरी होने की उम्मीद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुराने घावों को हरा करेगी मेरी फिल्म : निखिल आडवाणी