अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्या अदा क्या जलवे तेरे..

देश के कई आला नेताओं ने इस वर्ष राजनीति में अपने जौहर दिखाने के अलावा कई अन्य क्षेत्रों में भी अपने हाथ आजमाए और चर्चा में रहे। इनमें से कोई स्टिंग आपरेशन के कारण पद से हाथ धो बैठा तो किसी ने भ्रष्टाचार के सारे रिकार्ड तोड़ डाले।

साल के खत्म होते होते आंध्र प्रदेश के राज्यपाल नारायण दत्त तिवारी एक स्टिंग ऑपरेशन के चलते विवादों में घिर गए और उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। 25 दिसंबर को एक स्थानीय टीवी चैनल पर कथित तौर पर तिवारी को तीन महिलाओं के साथ आपत्तिजनक अवस्था में दिखाया गया। तिवारी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं।

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा 2000 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गए और उन्हें 30 नवंबर को चाइबासा में गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल कोड़ा, उनके पूर्व मंत्रिमंडलीय सहयोगियों और सहायकों के खिलाफ जांच चल रही है। इन लोगों पर मनी लाँड्रिंग और अवैध निवेश के आरोप में मामले दर्ज किए गए हैं।

मुंबई में नौ नवंबर को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना [मनसे] के विधायकों ने एक अभूतपूर्व घटना में सपा विधायक अबू असीम आजमी के हिंदी भाषा में शपथ लेने पर राज्य विधानसभा में हमला कर दिया। मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने इस घटना को मनसे की गुंडागर्दी बताया। एक जुलाई को नागरकर्नूल के कांग्रेस सांसद एम जगन्नाथ ने आंध्रप्रदेश में ग्रामीण विकास बैंक के एक मैनेजर को थप्पड़ मारा जिसे लेकर विवाद खड़ा हो गया। यह घटना कैमरे में कैद हो गई। सांसद के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया और आज पार्टी आलाकमान ने इसकी जांच के आदेश दिए।

जगन्नाथ ने महबूबनगर जिले में हुई इस घटना के लिये माफी मांगी लेकिन इस बात से इंकार किया कि उन्होंने बैंक प्रबंधक को थप्पड़ मारा। उन्होंने कहा कि बैंक के शाखा प्रबंधक के कंधे पर जब उन्होंने हाथ रखने की कोशिश की, तब प्रबंधक के गाल से उनका हाथ सिर्फ स्पर्श कर गया था।

उप्र के बदायूं में नौ नवम्बर को वन्य जीव प्रेमी तथा आंवला की सांसद मेनका गांधी ने दुर्लभ वन्य जीवों को मारकर उनका तेल बेचने वाले एक व्यक्ति की पिटाई कर दी। पिटाई के बाद उस व्यक्ति को पुलिस को सौंप दिया गया। पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री सुखराम को 13 साल पुराने भ्रष्टाचार के मामले में 25 फरवरी को 13 साल कैद की सजा सुनाई गई। दिल्ली उच्च न्यायालय ने यह सजा सुनाते हुए उनसे 4.25 करोड़ रुपये बरामद करने का आदेश भी दिया।

लोकसभा चुनावों में जीत कर आए प्रतिनिधियों के लिए राजधानी नयी दिल्ली में आवास की किल्लत हो गई क्योंकि कई पूर्व सांसदों ने सरकारी बंगले खाली नहीं किए। अंतत: इन पूर्व सांसदों को बंगले खाली करने के लिए नोटिस दिया गया और इसकी अवधि समाप्त होने पर कार्रवाई की गई। ऐसी ही एक कार्रवाई में भाजपा नेता और पूर्व सांसद नंद कुमार साय का सामान सरकारी बंगले से बाहर निकाल दिया गया। साय अब राज्यसभा सदस्य हैं।

पटना में एक अगस्त को करोड़ों रुपये के चारा घोटाला मामले में सीबीआई की विशेष जांच अदालत ने राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद आर के राणा सहित 12 दोषियों को सजा सुनाई। पच्चीस साल पहले हुए मारपीट के एक मामले में महाराजगंज के सांसद हर्षवर्धन को एक निचली अदालत ने साढ़े तीन साल कैद की सजा सुनाई। हर्षवर्धन को इस मामले में दस जुलाई को दोषी ठहराया गया था।

वयोवृद्ध राजनीतिज्ञ बूटा सिंह के पुत्र सरबजीत सिंह नासिक स्थित एक ठेकेदार से एक मामला बंद करने के एवज में एक करोड़ की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार कर लिए गए। बूटा के बेटे के घर छापे के बाद तीन गैरलाइसेंसी हथियार भी बरामद हुए। पटना की एक अदालत ने बिहार के पूर्व मंत्री बृज बिहारी प्रसाद हत्याकांड मामले में जद यू विधायक विजय कुमार शुक्ला उर्फ मुन्ना शुक्ला , लोजपा के पूर्व सांसद सूरजभान सिंह और पूर्व विधायक राजन तिवारी सहित आठ लोगों को 12 अगस्त को उम्रकैद की सजा सुनायी।

महाराष्ट्र के कृषि मंत्री बालासाहेब थोराट 15 अगस्त को एक चिडियाघर में बाघ के पिंजरे में घुस गए और उन्हें वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम के उल्लंघन के लिए 22 अगस्त को माफी मांगनी पड़ी।
 इस बीच अच्छी खबरें यह रहीं कि उप्र के आकस्मिक दौरे में राहुल गांधी ने ग्रामीणों के घर भोजन किया और खाट पर रात गुजारी। वहीं केन्द्रीय उद्योग एवं वाणिज्य राज्यमंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 15 नवंबर को रात तक चले अपने गुना संसदीय क्षेत्र के दौरे में बमोरी विकास ब्लाक के लालक्षिरी गांव में एक आदिवासी की झोपड़ी में मक्का के आटे की रोटियां बनाईं और पूरे परिवार के साथ बड़े चाव से खाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:क्या अदा क्या जलवे तेरे..