DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेलंगाना में सुरक्षा बढ़ी, टीआरएस वार्ता को तैयार

पृथक प्रदेश की मांग को लेकर बुधवार को होने वाले बंद को देखते हुए हैदराबाद समेत पूरे तेलंगाना में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। दूसरी ओर टीआरएस ने मंगलवार को कहा कि वह केंद्र से बात करने के लिए तैयार है, लेकिन मुद्दे पर विमर्श के लिए उसे कोई समिति मंजूर नहीं है।

इलाके में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। प्रांत के 10 जिलों में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस और अर्धसैनिक बलों के हजारों जवानों को तैनात किया गया है। प्रशासन ने यहां धारा 144 भी लगा दी है। मुख्यमंत्री के रोसय्या ने बुधवार के बंद के मद्देनजर मंत्रिमंडल की बैठक भी रद्द कर दी है। बैठक का वे सभी 13 मंत्री विरोध कर रहे थे, जिन्होंने अपने इस्तीफे कांग्रेस आलाकमान को भेजे थे।

इस बीच दिल्ली में कांग्रेस कोर समूह की बैठक के चलते ऐसी अफवाहों को बल मिला था कि केंद्र मौजूदा स्थिति को देखते हुए एक समिति का गठन कर सकता है। इस पर टीआरएस प्रमुख के चंद्रशेखर राव ने कहा कि केंद्र अगर चाहे तो वह उनसे बात कर सकते हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि वह तेलंगाना मुद्दे पर किसी पैनल से बात करने के लिए तैयार नहीं हैं क्योंकि यह सिर्फ समय की बर्बादी होगा।

राव ने कहा केंद्र को जल्द से जल्द इसका समाधान निकालना चाहिए। हमारी मांग है कि केंद्र अपने पूर्ववर्ती बयान पर कायम रहे। हम कोई समिति स्वीकार नहीं करेंगे। समय की बर्बादी के अलाव यह समितियां कुछ नहीं करतीं। उन्होंने कहा अगर दिल्ली हमसे बात करना चाहती है, तो हमें कोई ऐतराज नहीं है। हम इस मुद्दे पर संयुक्त कार्रवाई समिति में विमर्श करेंगे और अपने प्रतिनिधि भेजेंगे।

तेदेपा प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू ने भी मंगलवार को राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हन से मुलाकात करके प्रदेश की राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की। इलाके में बुधवार को आयोजित होने वाले बंद की अपील संयुक्त कार्रवाई समिति ने की है। बंद के संबंध में कांग्रेस विधायक आर दामोदर रेडडी ने कहा कोई एक भी ट्रेन न तो दिल्ली और न ही चेन्नई की तरफ जानी चाहिए। भाजपा ने भी लोगों से बंद को सफल बनाने की अपील की है।

वहीं विजयवाड़ा में मंगलवार को एक आंध्रप्रदेश समर्थक एक समूह ने भाजपा के स्थानीय कार्यालय पर हमला बोल दिया। हमले के समय भाजपा सचिव के हरि बाबू पत्रकारों को प्रदेश के विभाजन के बारे में पार्टी के रुख के बारे में बता रहे थे, तभी कांग्रेस संबद्ध एक आंध्रप्रदेश समर्थक समूह ने पार्टी कार्यालय पर हमला कर दिया। घटना के बाद कांग्रेस नेता सुनकारा पदमा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तेलंगाना में सुरक्षा बढ़ी, टीआरएस वार्ता को तैयार