अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिले में एक साल में 131 महिलाओं का अपहरण

जनपद की महिलाओं पर 09 भारी रहा। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष महिलाओं का ग्राफ दोगुने से भी पार हो गया। वहीं दहेज उत्पीड़न के मामलों में भी इजाफा हुआ। कुछ अपहृत महिलाओं को पुलिस ने बरामद कर लिया तो कुछ के बारे में सुराग तक नहीं लगा सकी। 09 में महिलाओं के साथ अत्याचार के ग्राफ में बढ़ोतरी हुई। इसमें सबसे अधिक संख्या अपहरण के मामलों की रही।


दहेज उत्पीड़न के मामलों में बढ़ोत्तरी हुई। कई विवाहिताओं को ससुरालीजनों ने घर से निकला दिया। उनके मायके वालों ने बेटी को न्याय दिलाने के लिए अदालत की शरण लेनी पड़ी। दिसम्बर तक जनपद में 131 महिलाओं का अपहरण हो गया। वहीं 2008 में 62 महिलाओं के अपहरण के मामले दर्ज हुए हैं। इस वर्ष चेन छिनैती की घटनाओं में भी तेजी से इजाफा हुआ। पिछले वर्ष केवल नौ महिलाओं के गले से चेन टूटी थीं। वहीं इस वर्ष इसकी संख्या 29 हो गई। इससे महिलाओं में असुरक्षा की भावना पैदा होना लाजमी है। अब उन्हें घर से निकलते डर सता रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जिले में एक साल में 131 महिलाओं का अपहरण