class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीसरी कक्षा के छात्र नहीं लिख सके 79

 मनरेगा के तहत चल रहे कार्यो को परखने के लिए डीएम तेहरा गांव पहुंचे। जहां व्यक्तिगत लाभार्थियों के कार्य मौके पर होते हुए मिले, रोजगार सेवक को नौ माह से मानदेय नहीं मिल रहा था। पंचायत सचिव मौके पर अभिलेख नहीं दिखा सका। प्राथमिक विद्यालय में पढाई का स्तर ठीक नहीं मिला। मंगलवार को राजीव भवन में बीडीओ की बैठक में मनरेगा के कार्यों की समीक्षा करने के बाद डीएम दिनेश चंद्र शुक्ला ने इच्छा व्यक्त की कि वे मौके पर देखना चाहते हैं कि योजना के कार्य कैसे चल रहे हैं। बीडीओ मथुरा उनको ग्राम तेहरा में योजना के तहत कराए जा रहे कार्यो को दिखाने के लिए ले आए।

उन्होंने मौके पर देखा कि योजना के तहत अनुसूचित जाति के व्यक्तिगत लाभार्थी विजयपाल, रुप सिंह, मोहन सिंह, चंद्रसिंह के यहां पांच लाख रुपये की लागत से खेतों में सिंचाई के लिए पक्की नाली का कार्य चलता हुआ मिला। इस दौरान गांव के रोजगार सेवक महेश चंद्र ने बताया कि गांव में 57 परिवारों के पास जॉब कार्ड हैं। उसने बताया कि मार्च 2009 से उसको मानदेय नहीं मिला है। इसपर उन्होंने बीडीओ मथुरा से पूछा कि मानदेय क्यों नहीं मिला। बीडीओ ने बताया कि मनरेगा योजना के तहत तैनात किए गए हैं उनका रिन्यूवल नहीं हुआ है। मानदेय के लिए शर्त है कि जब तक पंचायत में एक लाख रुपये के कार्य प्रतिमाह न हो मानदेय न दिया जाए। इस पर डीएम ने कहा कि जो अच्छे रोजगार सेवक हैं उनको मानदेय देने की कार्रवाई प्रारंभ की जाए। डीएम ने प्रधान और पंचायत सचिव को निर्देश दिए कि मनरेगा योजना के तहत गांव में खुदवाये गए तालाब की फिनिसिंग कराई जाए, इसके किनारे वृक्षा रोपण का कार्य कराया जाए।


ग्राम की सफाई व्यवस्था ठीक नहीं मिलने पर प्रधान ने बताया कि सफाई कर्मचारी छह माह से अनुपस्थित चल रहा है। प्राथमिक विद्यालय के निरीक्षण में पढाई का स्तर ठीक नहीं मिला।  कक्षा 5 की छात्र नीलम 999 में 9 का भाग नहीं दे सकी। जबकि कक्षा तीन के बच्चाे 79 नहीं लिख सके। स्कूल के तीन अध्यापक और दो शिक्षा मित्रों में से एक अध्यापिका अर्चना शर्मा और अध्यापक राम लाल उपस्थित नहीं मिला। प्रधानाध्यापक ने बताया कि रामलाल पंचायत नामावली के कार्य हेते ब्लाक संसाधन केंद्र पर गए हैं। जबकि अध्यापिका अर्चना उपाजिर्त अवकाश पर है। गांव के अंत्योदय, बीपीएल कार्ड धारकों ने बताया कि राशन सामग्री मिल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीसरी कक्षा के छात्र नहीं लिख सके 79