class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रीय शतरंज खिलाड़ी के बेटे का अपहरण

शतरंज के राष्ट्रीय खिलाड़ी बृजेश अग्रवाल के साढ़े पांच वर्षीय बेटे का अदनबाग एक्सटेंशन, दयालबाग (न्यू आगरा) से मंगलवार को अपहरण हो गया। उनका छोटा बेटा उज्जवल वारदात का प्रत्यक्षदर्शी है। उसने पुलिस को बताया कि ड्राइवर अंकल बाइक से भइया को पार्टी में लेकर गए हैं। मासूम के इस बयान के बाद पुलिस ने नगला तल्फी निवासी विष्णु की तलाश शुरू कर दी है। वह पिछले दिनों अग्रवाल परिवार को करौली लेकर गया था। घटना दोपहर करीब दो बजे की है। वारदात से पूरा अग्रवाल परिवार सहमा हुआ है। कालोनी में भी दहशत है।


बृजेश अग्रवाल ने बताया कि दोपहर में यश और उज्जवल घर के बाहर खेल रहे थे। यश ने आवाज लगाकर अपनी माँ से यह कहा था कि ड्राइवर अंकल आए हैं। पत्नी रिचा ने बेटे की बात पर ध्यान नहीं दिया। कुछ देर बाद पत्नी बच्चों को बुलाने के लिए बाहर आई। बड़ा बेटा गायब था। उसकी साइकिल रखी हुई थी। वह घबरा गई। कॉलोनी में इधर-उधर तलाश करने लगी। उज्जवल ने बताया कि यश को ड्राइवर अंकल ले गए हैं। जो पिछले दिनों करौली (राजस्थान) ले गए थे। छोटे बेटे की बात सुनकर पत्नी को याद आया कि यश ने भी गेट के बाहर से यह आवाज लगाई थी कि ड्राइवर अंकल आए हैं। कॉलोनी में छानबीन की गई तो पता चला कि एक युवक बाइक से आया था। उसने बाइक बृजेश अग्रवाल के घर से कुछ दूर खड़ी की थी। यकीनन वही यश को अपने साथ ले गया। उसे यह उम्मीद नहीं होगी कि चार वर्षीय उज्जवल उसे पहचानने के बाद घरवालों को सब कुछ बता देगा। वारदात की खबर मिलते ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए। उज्जवल ने पुलिस अधिकारियों को भी यही बताया। मासूम के बयान के बाद नगला तल्फी (दयालबाग) में दबिश दी गई। गई। विष्णु घर पर नहीं मिला। पुलिस ने उसके भाइयों को हिरासत में ले लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। बृजेश ने बताया कि विष्णु उनके पड़ोस में रहने वाले श्रीवास्तव की ट्रैवल एजेंसी पर गाड़ी चलाता है। पड़ोसी ने ही उसे उनके साथ करौली भेजा था। घटना विष्णु ने की है। पड़ोसी से कोई मतलब नहीं है। पड़ोसी परिवार सहित एक शादी में ग्वालियर गए हुए हैं। उन्होंने उनसे भी संपर्क किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राष्ट्रीय शतरंज खिलाड़ी के बेटे का अपहरण