अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑडी हादसे की होगी बारीकी से जांच

पांच दिन पहले गुड़गांव में ऑडी से आई-10 की हुई टक्कर में चीफ इंजीनियर की मौत के मामले की फिर से जांच होगी। पुलिस कमिश्नर एसएस देशवाल ने पीड़ित परिजनों को आश्वासन देते हुए अधिकारियों को इस दुर्घटना के सभी पहलुओं की बारीकी से जांच के आदेश दे दिए हैं। ऑडी कंपनी के खिलाफ लापरवाही के आरोपों की जांच के लिए भी कानूनी विशेषज्ञों की सलाह ली जाएगी।

शुक्रवार को ऑडी व आई-10 कार के बीच हुई भीषण टक्कर की मौत के बाद दिल्ली निवासी एक आईटी कंपनी के एमडी को आरोपी करार दे दिया गया था। लेकिन जांच प्रक्रिया और कार्रवाई को लेकर परिजनों में अभी भी संशय बरकरार है।

पुलिस कमिश्नर ने पीड़ित परिजन के राजकुमार अग्रवाल के सवालों के जवाब में कहा कि टेस्ट ड्राइव के लिए ऑडी के शोरूम से निकलने और दुर्घटना होने तक सभी पहलुओं की बारीकी से जांच होगी। उन्होंने संबंधित डीसीपी और एसएचओ को पूरी रिपोर्ट दो दिनों में जमा कराने के आदेश दे दिए हैं।

उधर, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट से भी मदद लेने के निर्देश दिए गए हैं। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस आयुक्त ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज सहित दुर्घटना के वक्त ऑडी में मौजूद सभी लोगों से बयान लिए जाएंगे।

आरके अग्रवाल के एक सवाल के जवाब में पुलिस कमिश्नर ने कहा कि अगर कार ड्राइव करने वाला कोई किशोर था तो इसकी भी सघनता से जांच होगी। उन्होंने बताया कि तमाम पहलुओं की जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

राजेश अग्रवाल ने कार की स्पीड का हवाला देते हुए पूछा कि इसके लिए क्या कार्रवाई बनती है? पुलिस आयुक्त ने इसके जवाब में कहा कि स्पीड कुछ भी हो, आरोपी ड्राइवर के खिलाफ एक ही धारा के तहत मामला दर्ज किया जाएगा।

मोबाइल कॉल डिटेल्स भी खंगालेगी पुलिसः घटना के वक्त ऑडी में मौजूद सभी लोगों सहित संजीव मित्तल को शोरूम तक पहुंचाने वाली कार में मौजूद लोगों की कॉल डिटेल्स भी पुलिस खंगालेगी।

पुलिस कमिश्नर ने इसकी जांच के आदेश देते हुए कहा कि इससे घटनाक्रम को जोड़कर दुर्घटना के कारणों के अलावा इस घटना में शक के दायरे में आने वाले तमाम लोगों का खुलासा हो जाएगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऑडी हादसे की होगी बारीकी से जांच