class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेरे साथ बदसलूकी की गईः कीर्ति आजाद

मेरे साथ बदसलूकी की गईः कीर्ति आजाद

कोटला कांड के बाद दिल्ली एवं क्रिकेट संघ (डीडीसीए) की परेशानियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं। डीडीसीए की मंगलवार की सुबह वार्षिक आम बैठक थी जिसमें उसकी कार्यकारिणी के सदस्य और पूर्व भारतीय क्रिकेटर कीर्ति आजाद यह आरोप लगाते हुए बाहर निकल गए कि उनके साथ बदसलूकी की गई और कुछ अन्य सदस्यों के साथ दुर्व्यवहार किया गया।

डीडीसीए की डेढ़ घंटे तक चली वार्षिक आम बैठक में कोटला का मुद्दा पूरी तरह छाया रहा। डीडीसीए के इतिहास में यह पहला मौका था जब उसकी वार्षिक आम बैठक इतनी देर तक चली। आखिर यह तो होना ही था, क्योंकि दो दिन पहले फिरोजशाह कोटला मैदान पर भारत और श्रीलंका के बीच पांचवां वनडे पिच के खतरनाक होने के कारण 23.3 ओवर बाद रद्द कर दिया गया।

बैठक से बाहर निकले और काफी भन्नाए नजर आ रहे आजाद ने आरोप लगाया कि कोटला पिच के ऊपर सवाल उठाने के कारण बैठक में उन्हें अपमानित किया गया और उनके साथ बदसलूकी की गई। उन्होंने कहा कि मुझे तो बैठक से ही बाहर निकल जाने के लिए कह दिया गया। कोटला पिच को लेकर जो कारण गिनाए जा रहे थे, मैं उन्हें लेकर बिल्कुल संतुष्ट नहीं था और जब मैंने सवाल उठाने चाहे तो बैठक में मुङो ही अपमानित कर दिया गया।

डीडीसीए की कार्यप्रणाली के खिलाफ हमेशा आवाज बुलंद करने वाले आजाद ने कहा कि वह डीडीसीए में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ अपना अभियान जारी रखेंगे और पूर्व तथा मौजूदा क्रिकेटरों को भी अपने साथ जोड़ने का प्रयास करेंगे।

कोटला कांड के बाद डीडीसीए में वैसे भी आरोप प्रत्यारोप का दौर चल रहा है। डीडीसीए की पिच एवं मैदान समिति के सभी सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है। कोटला पर एक से दो वर्ष का प्रतिबंध लगने और उससे 2011 के विश्वकप मैच छिनने का खतरा भी मंडरा रहा है।

आजाद ने कहा कि मेरे लिए यह बडी़ हैरानी वाली बात थी कि बैठक में कुछ सदस्यों ने मेरे साथ ही दुर्व्यवहार कर डाला लेकिन मैं इन सब बातों से डरता नहीं हूं और मैं पीछे नहीं हटूंगा। मेरी इस प्रबंधन के खिलाफ लडा़ई जारी रहेगी। मैं यह भी सुनिश्चित करूंगा कि ज्यादा से ज्यादा खिलाडी़ इस भ्रष्ट व्यवस्था के खिलाफ लडाई में सामने आए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेरे साथ डीडीसीए बैठक में बदसलूकी की गईः कीर्ति आजाद