अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनटीपीसी बढ़ाएगी क्षमता

मंदी के दौर में भी नेशनल थर्मल पावर कार्पोरशन (एनटीपीसी) ने 2008 की तीसरी तिमाही में 2,350 करोड़ का शुद्ध मुनाफा कमाया है। इसी से उत्साहित होकर निङाग ने वर्ष 2000 में 18,180 मेगावाट विद्युत क्षमता बढाने का खाका खींचा है। इसके लिये देशभर में 20 परियोजनायें निर्माणाधीन हैं। कार्पोरशन को इन परियोजनाओं को पूरा करने के लिए अगले वित्त वर्ष में 17,700 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी। इसका 30 प्रतिशत अपने श्रोत तथा 70 प्रतिशत यानी करीब 12,000 करोड़ रुपये विभिन्न वित्तीय संस्थाओं से जुटाने का निर्णय लिया गया है। एनटीपीसी ने थर्मल ताप बिजली घरों के अलवा अब जल विद्युत परियोजनाओं पर भी हाथ आजमाना शुरू कर दिया है। उसके लिए कोलडैम (800मेगावाट)-हिमाचल प्रदेश, तपोवन विष्णु गाड़ (520 मेगावाट) तथा लोहारी-नागपाला (600मेगावाट)-उत्तराखंड में निर्माणाधीन है। विभागीय सूत्रों ने बताया कि बिहार में बाढ फेा1-10 मेगावाट व फेा-2 में 1320 मेगावाट तथा नवीनगर में 1000 मेगावाट क्षमता वाले थर्मल परियोजनायें निर्माणाधीन है। उत्तर प्रदेश में दादरी-10 मेगावाट तथा रिहन्द में हाार मेगावाट की थर्मल परियोजनाओं का निर्माण चल रहा है। इसके अलावा छत्तीसगढ, असम तथा तमिलनाडु में भी परियोजनाओं पर काम चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एनटीपीसी बढ़ाएगी क्षमता