class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनिया के सबसे बड़े खुलासे

डरपोक हिटलर
यूरोप पर जबरदस्त हमला करने और लाखों लोगों को मौत के घाट उतारने वाला एडोल्फ हिटलर अपने आपको एक ऐसे व्यक्ति के तौर पर पेश करता था जिसे किसी से भी डर नहीं लगता था। लेकिन डेंटिस्ट ऑफ द डेविल किताब में हिटलर के निजी दंतचिकित्सक जोहानेस ब्लाशके के हवाले से कहा गया है कि हिटलर को दांतों की तकलीफ थी। दर्द नहीं सह पाने के चलते एक बार उसके दांत की रूट कैनाल को भरने में आठ दिन का समय लगा था। उसकी सांस से तेज दुर्गंध आती थी और उसे मसूड़ों की भी बीमारी थी। वर्ष 1944 में उसके दांतों में दस बार फिलिंग करानी पड़ी थी।

दिलफेंक मुसोलिनी
'द संडे टाइम्स' की 22 नवंबर की खबर के अनुसार इटली के फासीवादी तानाशाह बेनितो मुसोलिनी की एक प्रेमिका की सार्वजनिक की गई डायरियों से खुलासा हुआ कि मुसोलिनी की 14 प्रेमिकाएं थीं।

वेटिकन के डॉक्टर की बेटी क्लेरेता पेतासी 20 साल की उम्र में 1932 में मुसोलिनी से मिली थीं और चार साल बाद वह उनकी प्रेमिका बन गईं। पेतासी मुसोलिनी की जिंदगी में मौजूद अन्य महिलाओं से ईर्ष्या करती थी और वह दिन में दर्जनों बार मुसोलिनी को मुलाकात के लिए बाध्य करती थी। शाम को घर पहुंचने के हर आधे घंटे बाद दोनों मिलते थे। पेतासी को शक था कि मुसोलिनी उसे धोखा दे रहा है।


अनजाने में गिरी बर्लिन की दीवार
बर्लिन की दीवार गिरने के 20 साल बाद एक पूर्व कम्युनिस्ट नौकरशाह ने माना कि अनजाने में उन्होंने बर्लिन की दीवार गिराई जब बिना सोचे-समझे उनके मुंह से निकल गया था कि पूर्वी जर्मनियों की यात्रा पर लगी रोक हटा ली गई है।
   
'द टेलीग्राफ' ने दस नवंबर को खुलासा किया कि देश के तत्कालीन सत्तारूढ़ पोलित ब्यूरो के प्रवक्ता गुंतर साबोवस्की 1989 में दुनिया को यह दिखाना चाहते थे कि पूर्वी जर्मन शासन ढ़ह गया है। लेकिन उन्हें पता नहीं था कि उनकी घोषणा पर रोक है। गुंतर ने टेलीविजन पर सीधे प्रसारण में ऐलान किया कि यात्रा संबंधी प्रतिबंध हटा लिए गए हैं और जर्मन डेमोकेट्रिक रिपब्लिक (जीडीआर) के नागरिकों को निकलने की अनुमति देने के लिए बर्लिन की दीवार खोली जाएगी।

उनसे पूछा गया कि कब तो जवाब में उन्होंने बिना सोचे-समझे कहा तुरंत। और देखते ही देखते सीमा पार करने वालों का सैलाब उमड़ पड़ा, जिसे रोकना संभव नहीं था। सीमा रक्षकों ने हाथ खड़े कर दिए। कम्युनिस्ट शासन के लिए भ्रम और उन्माद भारी पड़ा और यह कुछ सप्ताह में ही ध्वस्त हो गया।


वुड्स के संबंध
टाइगर वुड्स के विवाहेत्तर संबंधों का खुलासा साल की बड़ी घटना रही। दुनिया के नंबर एक गोल्फर टाइगर वुड्स को कभी गोल्फ का जेंटलमैन कहा जाता था, लेकिन अचानक ही जब पिटारा खुला तो कई युवतियों की जुबान खुल गई जिन्होंने खुलासा किया कि उनके इस गोल्फर के साथ संबंध रहे हैं। वुड्स के विवाहेत्तर संबंधों की खबरों के लिए माफी मांगने के बाद उनके साथ रिश्ते होने का दावा करने वाली महिलाओं की संख्या 18 हो गई है।

इस पूरे खुलासे के बाद वुड्स की पत्नी ने उसे गोल्फ ओर परिवार में से किसी एक को चुनने को कहा है और अप्रत्याशित रूप से वुड्स ने परिवार का चयन करके अपने गोल्फ के करियर पर कुछ समय के लिए विराम लगा दिया है।
   
परेशान थैचर
देश पर कोई बड़ी आपदा आने पर शासनाध्यक्ष की रातों की नींद उड़ जाना स्वाभाविक है, लेकिन हाल ही में यह खुलासा हुआ है कि 1982 में हुए फाल्कन युद्ध के दौरान ब्रिटेन की तत्कालीन प्रधानमंत्री मारग्रेट थैचर पूरे तीन महीने तक पूरी पूरी रात जागती रहीं और इस दौरान नाइट सूट नहीं पहनती थीं ताकि आपदा के समय बिना समय गंवाए उच्चाधिकारियों के साथ मंत्रणा के लिए फौरन उपलब्ध हो सकें।

दस नवंबर को 'द टेलीग्राफ' की एक खबर में थैचर की पूर्व सहायक के हवाले से बताया गया कि ब्रिटेन की पहली महिला प्रधानमंत्री लेडी मारग्रेट थैचर 1982 में तीन महीने तक चले फाल्कन युद्ध के दौरान अपने सरकारी आवास में रात रात भर जागती थीं और उन्होंने कभी भी नाइट सूट नहीं पहना, क्योंकि वह किसी भी आपात स्थिति में सैन्य अधिकारियों से चर्चा के लिए खुद को हर वक्त तैयार रखना चाहती थीं। थैचर के फ्लैट में सुरक्षा बलों की स्थिति के बारे में जानने के लिए रात रात भर बीबीसी वर्ल्ड सर्विस सुनी जाती थी।
    
थैचर चाहती थीं कि जब भी उन्हें नौसेना कमांडरों से चर्चा की जरूरत पड़े तो वे कपड़े बदलने में समय गंवाएं बिना तुरंत बातचीत के लिए तैयार रहें। उन्होंने इन तीन माह तक केवल 20-20 मिनट की झपकी लेकर अपनी नींद पूरी की।
    

मार्क थैचर की जासूसी
थैचर के उद्योगपति पुत्र सर मार्क थैचर ने तेल समृद्ध राष्ट्र इक्वेटोरियल गिनी में तख्तापलट के लिए वित्तीय सहायता दी थी और उसने कबूल किया कि दोष से बचने के लिए उसने दक्षिण अफ्रीका के लिए जासूसी भी की थी।
   
विफल तख्तापलट में अपनी भूमिका के कारण अभियोजन से बचने के लिए थैचर दक्षिण-अफ्रीका की खुफिया सेवा के भेदिया बन गए थे। आठ नवंबर को 'द संडे टाइम्स' ने खुलासा किया कि साजिश के लिए धन मुहैया कराने के लिए पुलिस जांच के दौरान थैचर ने दक्षिण-अफ्रीका के खुफिया अधिकारियों से 2004 में मुलाकात की थी। अगले दिन थैचर को खुफिया एजेंसी के भेदिया के तौर शामिल कर लिया गया। लेकिन चार दिन बाद मार्क थैचर को दक्षिण-अफ्रीका की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई स्कोर्पियन ने गिरफ्तार कर लिया। बाद में उन्हें एक विशेष कानून के तहत, भाड़े के सिपाही के रूप में काम करने के लिए आरोपित किया गया।


वार डिक्लेयर्ड
वार डिक्लेयर्ड (युद्ध की घोषणा), अंग्रेजी भाषा के इन दो शब्दों का इस्तेमाल ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधानमंत्री नेवीले चेम्बरलेन ने द्वितीय विश्व युद्ध के शंखनाद को लिखने के लिए किया था। 'डेली एक्सप्रेस' में 19 अगस्त को प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि ब्रिटेन द्वारा तीन सितंबर, 1939 को इस महायुद्ध में शामिल होने के अलावा चेम्बरलेन ने उस पूरे हफ्ते के दौरान अपनी डायरी में इसके सिवा और कुछ नहीं लिखा था। यह छोटी सी निजी डायरी लंदन के इंपीरियल वार म्यूजियम में प्रदर्शनी में वर्ष 1939 के घटनाक्रम का खुलासा करने के लिए रखी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुनिया के सबसे बड़े खुलासे