class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरीबों की झुग्गियां बदलेंगी आशियाने में

झुग्गीवासियों को नए वर्ष में आशियाना का तोहफा मिलेगा। इनके लिए बनाए जा रहे आशियाना जून तक बनकर तैयार हो जाएंगे। प्राप्तकर्ताओं की सूची बनाने के लिए अगले महीने एक बैठक होगी जिसमें उपस्थित प्रशासनिक अधिकारी नियम एवं शर्तों के आधार पर इनके आवंटन की योजना बनाएंगे।

इस प्रक्रिया के बाद शहर को झुग्गियों से मुक्त कराए जाने की राह आसान होगी। इसके बाद ही शहर को सुंदर बनाने का सपना पूरा हो सकेगा।

दिल्ली में कॉमनवेल्थ गेम्स 3 अक्टूबर से शुरू होने हैं। इसे लेकर सरकार की मंशा है कि शहर में आशियाना बनाकर झुग्गीवासियों को उसमें शिफ्ट किया जाए। आशियाना की संख्या झुग्गियों की संख्या से बहुत कम है। शहर में झुग्गियों की संख्या पचास हजार से अधिक है। जबकि आशियाना लगभग साढ़े छह हजार बनाए जा रहे हैं। ऐसे में झुग्गियों में रहने वाले गरीबों को आशियाना अलॉट करना टेढ़ी खीर साबित हो सकती है। हालांकि हुडा इसे लेकर सर्वे भी करा चुका है।

हुडा व नगर निगम के अधिकारी भी इस दिशा में प्रयासरत हैं। कॉमनवेल्थ खेलों को देखते हुए बाईपास रोड का निर्माण कार्य भी तेज गति से चला हुआ है। लेकिन इसमें सड़क किनारे बसी झुग्गियां आड़े आ रही हैं। बाईपास रोड पर यातायात अवरूद्ध न हो, इसे लेकर हुडा ने अवैध कब्जा हटाओ अभियान छेड़ा हुआ है। पहले चरण में सड़क से  20 मीटर तक बनी दुकान व कमर्शियल गतिविधियों को हटाया जा रहा है।

हुडा के संपदा अधिकारी अरविंद मल्हान ने बताया कि आशियानों को अलॉट किए जाने को लेकर नए वर्ष के पहले महीने में एक बैठक बुलाई जाएगी जिसमें हुडा, नगर निगम व प्रशासनिक अधिकारी भाग लेंगे। इस बैठक में नियम व कानून के तहत आशियाना अलॉट करने के लिए कमेटी बनाई जाएगी। कमेटी इन आशियानों का अलॉटमेंट करेगी, ताकि पात्र गरीबों को आशियाना मिल सकें।

कोर्ट के आदेश पर मिलेगा आशियानाः शहर के विभिन्न इलाकों में हजारों की तादाद में झुग्गियां हैं। जिन्हें यहां बसे कई वर्ष बीत गए हैं। प्रशासन ने इन्हें तोड़ने की कार्रवाई करनी चाही तो आजाद भारत के नाम से कुछ झुग्गीवासियों ने इसका विरोध करते हुए हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सरकार को आदेश दिए कि उजाड़ने से पहले इनके लिए आशियाना की व्यवस्था की जाए। इसके तहत ह़ुडा की ओर से सेक्टर-56 और सेक्टर-62 में 3080 फ्लैट, नगर निगम की ओर से बापू नगर और डबुआ कालोनी में 3248 करोड़ों रुपये की लागत से छह हजार से अधिक आशियाना बनाने शुरू किए।

हुडा द्वारा बनाए जा रहे आशियाना नए वर्ष में जून तक तैयार कर लिए जाने हैं। डबुआ कालोनी में कुछ झुग्गीवासियों को बसाया भी जा चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गरीबों की झुग्गियां बदलेंगी आशियाने में