class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जूता मिसाइल की रेंज बढ़ी

जूता मिसाइल की रेंज बढ़ी

जूता मिसाइल ने इधर कई शिकार बनाए। इराकी पत्रकार मुंतजिर अल जैदी की बनाई इस मिसाइल ने बड़ों-बड़ों को नहीं बख्शा और मजे की बात यह रही कि उसने घूम फिर कर खुद जेदी को भी निशाना बना ही डाला।
   
जूता मिसाइल इस वर्ष भी खूब चली। इराकी पत्रकार मुंतजिर अल जैदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज बुश पर जूता फेंककर जो राह बनाई थी उस पर इस वर्ष लोग चलते नजर आए और मजे की बात यह रही कि खुद जैदी पर भी इस साल जूता मिसाइल दागी गई। भारत में प्रधानमंत्री, गृहमंत्री से लेकर लालकृष्ण आडवाणी तक इसके शिकार बने और एक जूते ने कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर की लोकसभा चुनाव की टिकट कटवा दी।

प्रधानमंत्री भी बने शिकार
गुजरात के अहमदाबाद में 26 अप्रैल को एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर एक युवक ने जूता फेंका। जूता प्रधानमंत्री के डायस से कुछ मीटर दूर गिरा। जूता फेंकने वाले कंप्यूटर इंजीनियरिंग के 28 वर्षीय छात्र को पुलिस ले गई लेकिन प्रधानमंत्री ने पुलिस से छात्र के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं करने के लिए कहा।
   
भारतीय पत्रकार का जूता

कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर को 1984 के सिखविरोधी दंगा मामले में सीबीआई द्वारा क्लीनचिट दिए जाने के विरोध में एक सिख पत्रकार जरनैल सिंह ने नई दिल्ली में छह अप्रैल को गृहमंत्री पी चिदंबरम पर एक संवाददाता सम्मेलन में जूता फेंका। चिदंबरम को जूता भले ही नहीं लगा, लेकिन सिंह का तीर निशाने पर लगा जब इस घटना के बाद जगदीश टाइटलर का लोकसभा चुनाव का टिकट कट गया।

चप्पलें भी चलीं
मध्यप्रदेश के कटनी जिले में लोकसभा चुनाव के दौरान प्रचार के लिए गए भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी पर 16 अप्रैल को पार्टी के ही एक कार्यकर्ता ने चप्पल फेंकी जो निशाने पर नहीं लगी।

शिक्षक का जूता
हरियाणा के कुरूक्षेत्र में एक स्कूल के शिक्षक राजमल सिंह सहारन ने अपने पुत्र की नौकरी नहीं लग पाने की हताशा के चलते 10 अप्रैल को कांग्रेस नेता और स्थानीय विधायक नवीन जिंदल पर जूता फेंका।

मोदी का एंटी-जूता सिस्टम
उत्तर महाराष्ट्र की धुले लोकसभा सीट में 21 अप्रैल को कांग्रेस प्रत्याशी अमरीश पटेल के पक्ष में चुनाव प्रचार कर रहे अभिनेता जीतेन्द्र पर दो स्लीपरें फेंकी गईं। जूतों के हमलों से बचने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक उपाय खोजा। जब वे चुनावी सभाओं को संबोधित करते, तो अपने डायस के सामने वॉलीबॉल की नेट बंधवा लेते।

न्यायमूर्ति भी नहीं बचे
सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति अरिजीत पसायत भी चप्पल का निशाना बने। 20 मार्च को मुंबई के विवादास्पद बॉस स्कूल ऑफ म्यूजिक से जुड़े एक मामले की सुनवाई के दौरान स्कूल की एक सदस्य ने न्यायमूर्ति पसायत की ओर चप्पल फेंकी थी। न्यायमूर्ति पसायत अब सेवानिवृत्त हो चुके हैं। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बॉस स्कूल ऑफ म्यूजिक की चार महिला सदस्यों को 21 अक्टूबर को तीन महीने कैद की सजा सुनाई।

विलासराव पर गोमूत्र-स्प्रे
पश्चिमी महाराष्ट्र के कोल्हापुर में एक कार्यक्रम में भाग लेने गए केंद्रीय मंत्री विलासराव देशमुख पर मुंबई में 22 अगस्त को एक युवक ने स्प्रे बोतल के जरिए गोमूत्र छिड़कने की कोशिश की।

सुनवाई में फेंकी चप्पल   
राजस्थान के कोटा में 18 अगस्त को एक अदालत में एक विचाराधीन कैदी बिन्नू उर्फ विनोद चौधरी ने सुनवाई के दौरान पीठासीन अधिकारी की ओर चप्पल फेंकी लेकिन निशाना चूक गया।
   
गुजरात के राजकोट में 24 सितंबर को अवैध निर्माण से जुड़े मामले के एक आरोपी धीरू कोटक ने सुनवाई के दौरान ही जज पर चप्पल फेंक दी। उसका निशाना चूक गया। सूरत में तीन अक्टूबर को हत्या के एक मामले के मुकदमे में विलंब से क्षुब्ध एक आरोपी धर्मेंद्र राठौर ने फास्ट ट्रैक कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश पर जूते फेंके। एक जूता अदालत में बैठी एक महिला को और दूसरा जूता अदालत में रखे राष्ट्रीय प्रतीक पर लगा।

जूते ही जूते
मणिपुर में एक कथित मुठभेड़ में एक युवक के मारे जाने के खिलाफ पिछले कई हफ्तों से प्रदर्शन कर रहे सामाजिक संगठन अपुनबा लुप (एएल) के कार्यकर्ताओं ने 30 सितंबर को इम्फाल में राज्य के खेलमंत्री एन बीरेन के निजी मकान पर जूते फेंके।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में नांदेड़ के तत्कालीन विधायक को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज एक समर्थक ने 25 सितंबर को मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण पर जूता फेंका। हालांकि, यह जूता उन्हें नहीं लगा।


विदेशों में खूब चली जूता मिसाइल
जूते फेंकने की घटनाएं विदेशों में भी हुईं। दो फरवरी को चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ जूने का निशाना बने। कैंब्रिज विश्वविद्यालय में भाषण दे रहे जियाबाओ को रोकते हुए एक व्यक्ति उठा और उन पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए एक जूता दे मारा, जो जियाबाओ से कुछ दूरी पर गिरा।

स्वीडन में इजरायल के राजदूत बेनी डेगन पर पांच फरवरी को एक महिला ने स्टाकहोम विश्वविद्यालय में एक समारोह के दौरान जूता फेंका। जूता डेगन के सीने पर लगा।
   
इस्तानबूल में 30 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) के प्रमुख डोमनिक स्त्रास काह पर तुर्की में विश्वविद्यालय के पत्रकारिता के एक छात्र ने जूता फेंका। जूता डोमनिक से करीब एक मीटर की दूरी पर गिरा।

जूते का खेल पाकिस्तान में भी हुआ। कराची के एक छात्र ने आठ अक्टूबर को एक समारोह के दौरान अमेरिकी पत्रकार क्लिफोर्ड डी मे पर जूता फेंक दिया। क्लिफोर्ड रिपब्लिकन हैं और जॉर्ज बुश प्रशासन के कार्यकाल के दौरान पार्टी के सक्रिय सदस्य समझे जाते थे। जूता को क्लिफोर्ड नहीं लगा।

खुद जैदी भी जूते की चपेट में
राजनीतिज्ञों पर जूते फेंकने की शुरूआत पिछले साल दिसंबर में हुई थी जब इराकी पत्रकार मुंतजिर अल जैदी ने इराक में अमेरिकी कार्रवाई के विरोध में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश पर जूता फेंका था। अपने कारनामें से अरब और मुस्लिम जगत में वाह-वाही बटोरने वाले अल जैदी को नौ माह की सजा के बाद 15 सितंबर को बगदाद जेल से रिहा कर दिया गया। अल जैदी को रिहाई के बाद कारें, मकान, पैसा और यहां तक कि बीवी भी देने की पेशकश की गई। द अल-बगदादिया टेलीविजन चैनल के संवाददाता रहे जैदी के पूर्व मालिक ने उसके लिए चार बेडरूम वाला एक नया घर बनवाया और एक कार भी खरीदी।

बुश पर जूता फेंने वाले अल जैदी को दो दिसंबर को पेरिस में जूते का असली मर्म समझ में आया, जब एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने के दौरान उसी पर जूता फेंक दिया गया। बुश की तरह जैदी भी जूते से अपना बचाव करने में कामयाब रहा और जूता उसके पीछे दीवार पर जा लगा। जूता फेंकने वाले के बारे में जैदी ने मजाकिया लहजे में कहा उसने मेरी तकनीक चुरा ली। बहरहाल इस दौरान अल-जैदी के भाई ने जूता फेंकने वाले का पीछा किया और उस पर जूता भी फेंका।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जूता मिसाइल की रेंज बढ़ी