class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्रूनी पर अब कुनबापरस्ती का इल्जाम

ब्रूनी पर अब कुनबापरस्ती का इल्जाम

फ्रांस की ग्लैमरस पहली महिला कार्ला ब्रूनी देश के आंतरिक मामलों में दखलंदाजी के आरोप के बाद अब भाई-भतीजावाद के इल्जाम से घिर गई हैं।

ले प्वाइंट की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रूनी पर अपने एक वयोवद्ध मित्र को प्रमुख सरकारी पद दिए जाने के बाद यह आरोप लगाया गया है। पूर्व इंटीरियर डिजाइनर 60 वर्षीय फ्रैंकोइस बॉदोट को इंस्पेक्टर जनरल ऑफ कल्चरल अफेयर्स नियुक्त किया गया है जबकि सरकार के नियुक्ति आयोग ने शुरुआत में उन्हें इस पद के लिए उपयुक्त व्यक्ति नहीं माना था।

फ्रांस की एक प्रमुख समाचार पत्रिका के मुताबिक नियुक्ति आयोग ने अपने सदस्यों को बॉदोट को उस पद के लिए राष्ट्रपति निकोलस सारकोजी, प्रधानमंत्री फ्रैंकोइस फिलोन तथा संस्कति मंत्री फ्रेडरिक मिटरैंड का समर्थन प्राप्त होने के बारे में बताए जाने पर अपना इरादा बदल दिया।

रीडर्स डाइजेस्ट के पिछले महीने के सर्वेक्षण के मुताबिक फ्रांस में 48 प्रतिशत लोग मानते हैं कि राष्ट्रपति सारकोजी के फैसलों में ब्रूनी की राय का खासा असर शामिल होता है। यहां तक कि सारकोजी की अपनी ही पार्टी के कुछ वरिष्ठ सदस्यों ने भी कथित रूप से कहा है कि राष्ट्रपति अपनी पत्नी के अंगूठे के नीचे रहते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ब्रूनी पर अब कुनबापरस्ती का इल्जाम