अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेनामी संपत्ति साबित कर, नहीं तो मानहानि

आयकर विभाग द्वारा हाइकोर्ट में आय से अधिक संपत्ति होने की बात कहे जाने पर पूर्व मंत्री बंधु तिर्की ने कड़ा प्रतिकार किया है। पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ऐसी कोई भी संपत्ति नहीं है, जो आयकर रिटर्न में नहीं दर्शायी गयी है।ड्ढr आयकर विभाग के नोटिस के जवाब में उन्होंने साफ कह दिया था कि उनके पास आय से अधिक संपत्ति नहीं है। इसके बावजूद कोर्ट को गुमराह करने की नीयत से मेरी संपत्ति भी आय से अधिक बतायी गयी है। विभाग को चुनौती देते हुए बंधु ने कहा कि आय से अधिक संपत्ति विभाग साबित करे अन्यथा वे मानहानि का मुकदमा करंगे। हाइकोर्ट में वह खुद बहस करंगे। अगर आयकर विभाग उनकी एक भी बेनामी संपत्ति बतायी, तो कोर्ट से वह खुद ही सीबीआइ जांच का आग्रह करंगे। आय से अधिक संपत्ति होने पर विभाग को पहले नोटिस जारी करना चाहिए था। जब दिसंबर में विभाग ने कोर्ट में यह साफ कर दिया था कि वह संपत्ति के मामले में कोई जानकारी देने की स्थिति में नहीं हैं, तो फिर कुछ दिन बाद किस साक्ष्य के आधार पर आय से अधिक संपत्ति बता दी गयी। यह उनकी छवि को धूमिल करने का प्रयास हो रहा है। कहा कि यह प्रतिकार पूर्व मंत्री-विधायक की हैसियत से नहीं एक आम आदमी की हैसियत से कर रहा हूं। विभाग को सलाह भी दी है कि किसी अधूरी कार्रवाई के आधार पर गलत निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे। जरूरत पड़ी तो वे सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटायेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बेनामी संपत्ति साबित कर, नहीं तो मानहानि