DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय में उत्खलन की आवश्यकता: नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को कहा कि प्राचीन नालंदा विश्वविदयालय में यदि उत्खनन के दायरे को आगे बढ़ाया जाए तो कई चौंकाने वाली जानकारियां हासिल हो पाएंगी। राजगीर प्रवास के तीसरे दिन नीतीश ने राज्य के कई वरिष्ठ अधिकारियों के साथ सुबह प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय के पुरावशेष स्थल का दौरा किया।

मुख्यमंत्री ने पुरावशेषों के अवलोकन के बाद कहा कि नालंदा की इस धरती पर अभी उत्खनन का काम बहुत कम हुआ है और कई रहस्य आज भी हम सबों से अछूते हैं। उन्होंने कहा कि प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय के उत्खनन के बाद खंडहर में जो अवशेष मिले वे लोगों को चकित करने वाले हैं लेकिन विश्वविद्यालय के एक बड़े हिस्से में आज भी उत्खनन की आवश्यकता है।

बिहारशरीफ के प्राचीन इलाका उदंतपुरी का जिक्र करते हुए नीतीश ने कहा कि गढ़पर मुहल्ले के चर्चित उक्त इलाके में आबादी बढ़ जाने से वहां खुदाई करना कठिन है लेकिन यह स्थल गौरवशाली अतीत को अपने में समेटे हुए है। उन्होंने इस ओर पुरातत्व विभाग और अन्य शोधकर्ताओ और संस्थानों का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि नालंदा में कई स्थल ऐसे हैं जहां उत्खनन का कार्य नहीं हो पाया है और वहां उत्खनन की आवश्यकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय में उत्खलन की आवश्यकता: नीतीश