DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय फिल्म जगत की उपलब्धियां का साल

2009 को बॉक्स आफिस की सफलता-असफलता से हटकर देखें तो भारतीय फिल्म जगत की उपलब्धियां कम नहीं रहीं। यश चोपड़ा दक्षिण कोरिया में एशियाई फिल्म महोत्सव में साल के फिल्मकार चुने गये तो प्रख्यात प्लेबैक सिंगर मन्ना डे को वर्ष 2007 के लिए प्रतिष्ठित दादा साहेब फाल्के अवार्ड प्रदान किया गया। भारतीय फिल्मों ने इस साल न केवल देश में बल्कि विदेशों में भी सराहना बटोरी।

मुंबई की झोपड़पट्टी में रहने वाले लड़के के करोड़पति बनने की कहानी पर ब्रिटिश निर्माता निर्देशक डैनी बोयल की फिल्म स्लमडॉग मिलेनियर ने इस साल 23 फरवरी को सर्वश्रेष्ठ फिल्म और निर्देशन समेत आठ ऑस्कर अपनी झोली में डाले तो फिल्म के संगीतकार एआर रहमान को दो श्रेणियों में पुरस्कार मिले।

रहमान को ऑस्कर पुरस्कार प्रदान करने वाली एकेड़मी ऑफ मोशन पिक्चर आटर्स एंड साइंस ने मताधिकार प्राप्त सदस्य की हैसियत से शामिल होने के लिए आमंत्रित कर दोबारा सम्मानित किया।

रहमान ने ग्रासरूट ग्रैमी अवार्ड भी जीता। उन्हें जस्ट प्लेन फोक्स 2009 म्यूजिक अवार्डस में सर्वश्रेष्ठ भारतीय एलबम वर्ग में तमिल फिल्म गॉडफादर के लिये संगीत का सर्वोच्च पुरस्कार दिया गया। भारतीय फिल्मकार यश चोपड़ा को नौ अक्टूबर को दक्षिण कोरिया के पुसान में एशियाई फिल्म महोत्सव में साल का फिल्मकार चुना गया।

प्रख्यात प्लेबैक सिंगर मन्ना डे को वर्ष 2007 के लिए प्रतिष्ठित दादा साहेब फाल्के अवार्ड प्रदान किया गया। 1950 के दशक से 1970 के दशक तक प्लेबैक संगीत की दुनिया में राज करने वाले मन्ना डे ने 3,500 से अधिक गीत गाए हैं।

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम करूणानिधि को 28 सितंबर को फिल्म उलियिन ओसाई के लिए सर्वश्रेष्ठ संवाद लेखन का पुरस्कार प्रदान किया गया। राजनीति में आने से पहले करूणानिधि जाने माने संवाद लेखक रहे हैं।

डिस्लैक्सिया से पीड़ित बच्चों की कहानी पर बनी तारे जमीं पर ने सात सितंबर को नई दिल्ली में घोषित 55वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में तीन पुरस्कार अपनी झोली में डाले। शाहरूख खान अभिनीत चक दे इंडिया को सर्वश्रेष्ठ लोकप्रिय और मनोरंजक फिल्म चुना गया।

तारे जमीं पर के गीत अंधेरे से डरता हूं मां के लिये शंकर महादेवन और प्रसून जोशी को क्रमश: सर्वश्रेष्ठ प्लेबैक सिंगर और गीतकार चुना गया। जब वी मेट के लिये श्रेया घोषाल ने सर्वश्रेष्ठ प्लेबैक का पुरस्कार जीता। जब वी मेट के गीत ये इश्क हाय को सर्वश्रेष्ठ कॉरियोग्राफी डायरेक्शन का पुरस्कार भी मिला।

तारे जमीं पर को प्रतिष्ठित वाल्ट डिज्नी स्टूडियो लाइक स्टार्स ऑन अर्थ के नाम से अगले महीने जनवरी में अमेरिका में डीवीडी की शक्ल में रिलीज करेगा। अनिल कपूर प्रोडक्शंस की गांधी माय फादर के लिये दर्शन जरीवाला को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता और द लास्ट लीयर के लिये शेफाली शाह को सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री चुना गया। गांधी माय फादर को जूरी का विशेष पुरस्कार भी मिला।

भारतीय फिल्मों की धूम अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोहों में भी रही। नवोदित फिल्मकार लक्ष्मीकांत शेतगांवकर की कोंकणी फिल्म द मैन बियॉन्ड ब्रिज ने 34वें टोरंटो अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव के खोज वर्ग में अंतरराष्ट्रीय फिल्म आलोचक संघ का पुरस्कार जीता।

द मैन बीयॉन्ड द ब्रिज कोंकणी भाषा की पहली ऐसी फिल्म बन गयी है जिसे प्रमुख अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिला है। काठमांडू में आयोजित फिल्म महोत्सव साउथ एशिया 2009 में भारतीय फिल्मों को खूब सराहा गया। समारोह में 1930 में महात्मा गांधी के दांडी मार्च पर बनी फिल्म द साल्ट स्टोरीज को दूसरी सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार मिला।

भारत के हिमानी चामुंडा मंदिर पर बनी जिम मालिनसन एवं चीचू पाटुज्जी की फिल्म टेम्पल्स इन द क्लाउडस को विशेष पुरस्कार मिला। भारतीय फिल्म निर्माता फैजा अहमद खान की फिल्म सुपरमैन ऑफ मालेगांव को सर्वश्रेष्ठ पहली फिल्म का अवार्ड मिला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारतीय फिल्म जगत की उपलब्धियां का साल