class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुनियाभर में छाए भारतीय नाम

2009 में कई क्षेत्रों में भारतीयों ने महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की। चाहे विज्ञान में नोबेल पुरस्कार हो, फिल्म के लिए ऑस्कर हो या फिर मैग्ससे पुरस्कार हो, भारतीयों ने देश को गौरवान्वित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।
   
वेंकटरामन रामकृष्णन को नोबेल
भारतीय मूल के अमेरिकी वैज्ञानिक वेंकटरामन रामकृष्णन को वर्ष 2009 का रसायन के लिए नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार कोशिकीय तंत्र में प्रोटीन की रचना करने वाले अंगक राइबोसोम पर उल्लेखनीय अनुसंधान कार्य के लिए दिया गया। मंदिरों के शहर तमिलनाडु के चिदंबरम में 1952 में जन्मे रामकृष्णन (57) ऐसे सातवें भारतीय या भारतीय मूल के व्यक्ति हैं जिन्हें यह प्रतिष्ठित सम्मान दिया गया।

रहमान-गुलजार को ऑस्कर   
संगीत के जादूगर अल्लाह रक्खा रहमान ने स्लमडॉग मिलिनेयर फिल्म के लिए दो ऑस्कर पुरस्कार जीतकर नया इतिहास रच डाला। रहमान ने गोल्डन ग्लोब और बाफ्टा जीतकर दुनिया को स्लमडॉग मिलिनेयर के संगीत पर झुमाकर रख दिया। वहीं गीतकार गुलजार को भी जय हो के लिए सर्वश्रेष्ठ गीतकार का ऑस्कर मिला।

दीप जोशी को मैग्ससे
भारत के जाने-माने सामाजिक कार्यकर्ता दीप जोशी और पांच अन्य को वर्ष 2009 का प्रतिष्ठित रमन मैग्ससे पुरस्कार प्रदान किया गया। एशिया के नोबल माने जाने वाले रमन मैग्ससे अवॉर्ड फाउंडेशन के बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज द्वारा मनीला से जारी बयान में कहा गया कि जोशी ने भारत के ग्रामीण विकास के लिए उल्लेखनीय कार्य किया है।

टाइम मैग्जीन में बिंदेश्वर
सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक और जाने-माने स्वास्थ्य रक्षा विशेषज्ञ बिंदेश्वर पाठक को इस वर्ष टाइम पत्रिका ने 31 पर्यावरण नायकों में से एक करार दिया। सितंबर माह के अंक में पत्रिका ने जलवायु परिवर्तन के संकट से निपटने के लिए काम कर रहे संस्थानों और उनकी उपलब्धियों के लिए विश्व स्तर पर 31 असाधारण लोगों की पहचान की। पाठक को इस वर्ष का पर्यावरण नायक (हीरोज ऑफ द एन्वायरनमेंट) करार दिया गया। टाइम के मुताबिक सुलभ संस्थान के प्रमुख को वैज्ञानिकों और नवाचार करने वालों की श्रेणी में शामिल किया गया है। पाठक ने गर्मी पैदा करने, खाना पकाने और बिजली पैदा करने के लिए मल-मूत्र आधारित जैविक गैस का संयंत्र बनाने का नया काम किया, जिसे पर्यावरणविदों ने खूब सराहा।

सारंगी को डॉक्टरेट
भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए जबरदस्त आंदोलन छेड़ने वाले सामाजिक कार्यकर्ता सतीनाथ सारंगी को स्कॉटलैंड की एडिनबरा स्थित क्वीन मार्गेट यूनिवर्सिटी ने मानद डॉक्टरेट की उपाधि देकर सम्मानित किया।

भारतीय को पाकिस्तान का सम्मान
पाकिस्तान ने अपने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर दिवगंत गांधीवादी नेता निर्मला देशपांडे को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से एक सितारा-ए-इम्तियाज से नवाजा। पाकिस्तान के प्रति उनकी सेवाओं के लिए राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने उन्हें निधन के बाद इस सम्मान से सम्मानित किया। मई, 2008 में देशपांडे का निधन हो गया था। अपने आखिरी कुछ वर्षों में वह भारत और पाकिस्तान के बीच बेहतर संबंधों के लिए काम कर रही थीं।

प्रियदर्शन का कौशल
कनाडाई शहर कैलगरी में हो रही विश्व कौशल प्रतियोगिता में भारत के एन प्रियदर्शन ने रजत पदक जीता। प्रियदर्शन कोयंबटूर के रहने वाले हैं। प्रियदर्शन के अलावा बेंगलूर के एस सिद्धराजू ने भी प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और अच्छा प्रदर्शन किया। दो वर्षों में आयोजित होने वाली इस प्रतियोगिता को विश्व कौशल ओलंपिक के नाम से भी जाना जाता है। इसमें 51 देशों के 900 प्रतिभागियों ने 45 विभिन्न स्पर्धाओं में भाग लिया।

एवरेस्ट से कूदे रमेश
भारतीय वायुसेना में एयर कमांडर रमेश चंद्र त्रिपाठी 23 सितंबर को दो ब्रिटिश नागरिकों लियो डिकिन्सन और राल्फ मिशेल के साथ दुनिया के उन चुनिंदा जांबाजों में शामिल हो गए, जिन्होंने विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट के समीप आसमान से छलांग लगाई। त्रिपाठी ने 5,164 मीटर की उंचाई पर गोराक शेप स्थित एवरेस्ट आधार शिविर पर हेलिकॉप्टर से छलांग लगाई। गोराक शेप को स्काई डाइविंग के लिए सर्वाधिक उंची चोटी माना जाता है।

असम क्रूज
ब्रहमपुत्र नदी में चलने वाली असम क्रूज ने जापान में इस साल का डेस्टिनेशन डेवलपमेंट अवॉर्ड जीता। असम बंगाल नेविगेशन (एबीएन) नामक संस्था यह क्रूज परिचालित करती है। यह क्रूज असम में अक्टूबर से अप्रैल तक संचालित की जाती हैं, जबकि पश्चिम बंगाल में यह पूरे साल चलती हैं।

इमेजिनिंग इंडिया
इंफोसिस के पूर्व अध्यक्ष नंदन निलेकनी की किताब 'इमेजिनिंग इंडिया' ने इस वर्ष कथा श्रेणी में इंडियाप्लाजा गोल्डन क्वील अवॉर्ड्स जीता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुनियाभर में छाए भारतीय नाम