class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गालिब की जयंति पर विशेष कार्यक्रम

‘हुई मुद्दत कि गालिब..याद आता है। जज्बातों की बेपनाह गहराइयों को शायरी से बयां करने वाले अजीम शायर मिर्जा गालिब का जन्मदिन रविवार को है। जन्मदिन मनाने के लिए ‘यादगार-ए-गालिब’ कार्यक्रम की पेशकश लोदी रोड स्थित इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर में रविवार को की जाएगी जिसमें कथक नृत्यांगना उमा शर्मा ‘शमां बुझती है..’ कार्यक्रम पेश करेंगी। इस अवसर पर राजनयिक पवन के. वर्मा अपनी पुस्तक ‘गालिब : द मैन, द टाइम्स’ की इबारत पेश करेंगे।

गालिब की याद में इस तरह का आयोजन हर साल आयोजित किया जाता है। जिसमें बड़ी संख्या में गालिब के दीवाने शिरकत करते हैं। अपने खास अंदाज की वजह से शायरीपसंद दिलों पर राज करने वाले मिर्जा गालिब की यह 212वीं जयंती है। रविवार को होने वाले कार्यक्रम में ऐतिहासिक धरोहरों की रक्षा को लेकर फिक्रमंद फिरोज बख्त अहमद, कवि गुलजार देहलवी और अधिकारी वर्ग से आबिद हुसैन मुख्य रूप से मौजूद रहेंगे।

गालिब का जन्म 27 दिसंबर, 1797 को हुआ था। शनिवार को टाउन हॉल, चांदनी चौक से गालिब की हवेली तक जुलूस निकाला गया। जिसमें नृत्यांगना उमा शर्मा रौशन मोमबत्ती लेकर शामिल हुईं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गालिब की जयंति पर विशेष कार्यक्रम