class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंदोलन की राह पकड़ेंगे अभिभावक

फीस बढ़ोतरी में निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक प्रदेशव्यापी आंदोलन छेड़ने की मुहीम शुरु करेंगे। अभिभावकों ने यह फैसला रोहतक में आयोजित अभिभावक एकता मंच की बैठक में लिया गया।

इस बैठक में 14 जिले के अभिभावक संगठनों के प्रतिनिधि और छात्र संगठनों के पदाधिकारी शामिल थे। अभिभावकों ने जनवरी में अभिभावक सम्मेलन और रैली आयोजन कर विरोध प्रदर्शन करने का एलान किया।

मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा ने बताया कि अधिकतर स्कूलों ने शिक्षा आयुक्त के 6 जुलाई के आदेशों को न मानकर अभिभावकों से बढ़ी फीस वसूलने का सिलसिला जारी रखा है। इनमें कई स्कूलों को शिक्षा विभाग और हुडा की ओर से नियमों को पालन न करने पर नोटिस जारी किए गए हैं। उन्हीं स्कूलों में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में मंत्री, सांसद, विधायक, उपायुक्त और अन्य अधिकारी मुख्य अतिथि बनकर जा रहे हैं। इससे स्कूल प्रबंधन का हौंसला बढ़ रहा है।

स्कूलों में हो रही फीस बढ़ोतरी और राजनेताओं की मिलीभगत को खत्म करने के लिए अभिभावक आंदोलन की राह पकड़ेंगे। प्रदेशभर में अभिभावक और छात्र संगठन मिलकर जोरदार आंदोलन चलाएंगे। सरकार को मजबूर होकर अभिभावकों की मांगों को मानना होगा।

मंच के संरक्षक सुभाष लांबा ने बताया कि सभी निजी स्कूलों को 31 दिसंबर तक फॉर्म भरकर अपने आय-व्यय का सही ब्यौरा जिला शिक्षा अधिकारी को जमा कराना है। बावजूद इसके पिछले तीन साल से कोई भी स्कूल इस नियम का पालन नहीं कर रहा है। अधिकतर स्कूलों में कापी-किताब की दुकान खुली हुई है।उन्होंने कहा कि इसके विरोध में जिला स्तर पर अभिभावक सम्मेलन और रैलियों का आयोजन करेंगे।

इस दौरान मुख्यमंत्री के नाम प्रेषित ज्ञापन जिला उपायुक्त और हुडा प्रशासन को सौंपे जाएंगे। इसके बाद भी सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया, तो फरवरी में दराज्य स्तरीय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। यह सम्मेलन फरीदाबाद में आयोजित होगा।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आंदोलन की राह पकड़ेंगे अभिभावक