DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक सीखेंगे अब कंप्यूटर

जूनियर माध्यमिक स्कूलों के शिक्षक अब कंप्यूटर सीखेंगे। इन स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षा योजना लागू है। लेकिन अभी तक यह योजना ठंडे बस्ते में है। ऐसे में शिक्षा विभाग अब नए वर्ष में जिले के सभी जूनियर माध्यमिक शिक्षकों को अनिवार्य रूप से कंप्यूटर सिखाएगा ताकि स्कूलों में पड़े कंप्यूटर धूल खाते न रहें।

अब तक स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षा के लिए ये स्कूल बाहर की किसी एजेंसी से किसी व्यक्ति को बुलाते हैं। ऐसे नियुक्त कुल 36 ट्यूटरों में से मुश्किल से एक दजर्न ही अपनी कक्षा लेने आते हैं। ज्यादातर वे गैर हाजिर ही रहते हैं।

माध्यमिक स्कूलों में कंप्यूटर शिक्षा योजना के तहत आठ कंप्यूटर एक-एक स्कूलों को वितरित किए गए हैं। ऐसे कुल 212 में से 63 माध्यमिक स्कूलों में कंप्यूटर हैं लेकिन इनमें से लगभग एक दर्जन स्कूलों में ही ट्य़ूटर की व्यवस्था है। बाकी बचे स्कूलों को अभी ट्य़ूटर की नियुक्ति का इंतजार है। जिन कंप्यूटर टय़ूटरों की नियुक्ति की गई है वे भी केवल टाइम पास के लिए ही स्कूलों में अपनी हाजिरी देने आते हैं।

सेक्टर-12 स्थित माध्यमिक स्कूल में कंप्यूटर क्लास प्रतिदिन सभी कक्षाओं की दो-घंटो तक लगती है। और बारी-बारी से कक्षा 6, 7 व आठवीं के छात्र आते हैं और कंप्यूटर सीखते हैं। यहां नियुक्त ट्य़ूटर के संबंध में स्कूल के प्रिंसिपल का कहना है कि वे नियमित आते हैं और सभी छात्र-छात्राएं सीखते तो हैं लेकिन छात्रों के सीखने की प्रगति बहुत ही कमजोर है।

माध्यमिक स्कूल के प्रिंसिपल छोटेलाल चौहान कहते हैं कि हमारे स्कूल में तो हमारे कारण ट्य़ूटर आता है लेकिन जिले के दूसरे स्कूलों में टय़ूटर बहुत कम संख्या में नियुक्त हैं। उनका मानना है कि यदि शिक्षकों को कंप्यूटर सिखाया जाता है तो इससे शिक्षक कंप्यूटर ट्यूटर पर निर्भर नहीं रहेंगे।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिक्षक सीखेंगे अब कंप्यूटर