class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेनजीर की हत्या के दो साल बाद

बेनजीर की हत्या के दो साल बाद

पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की नेता बेनजीर भुट्टो की रावलपिंडी में चुनावी रैली के दौरान आज ही के दिन 27 दिसंबर 2007 को हत्या कर दी गई थी। जब बेनजीर एक गाड़ी पर सवार होकर चुनाव प्रचार कर रही थी, तभी एक आत्मघाती हमलावर ने अपने आप को उड़ा दिया जिसमें बेनजीर की मौत हो गई। 21 जून 1953 में जन्मी बेनजीर किसी भी मुस्लिम देश की पहली महिला मुखिया बनी। वह पाकिस्तानी की पहली और अब तक की इकलौती महिला प्रधानमंत्री रही। बेनजीर 1988-90 और 1993-1996 तक दो बार पाकिस्तान की प्रधानमंत्री रहीं। बेनजीर की हत्या का आरोप तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर भी लगा।

आज पाकिस्तान जितना अस्थिर दिखता है उतना शायद कभी नहीं था। आज पाकिस्तान अपनी उस करिश्माई नेता की कमी को बहुत महसूस करता है। उनकी नेतृत्व क्षमता पर किसी को भी शक नहीं था। आज पाकिस्तान के अमन पसंद लोग महसूस करते हैं कि अगर बेनजीर जिंदा होती तो शायद उनके देश की ऐसी स्थिति नहीं होती जैसी आज हकीकत है। आज पाकिस्तान में जहां तहां आत्मघाती हमले होते रहते हैं। हर दूसरे दिन कहीं न कहीं बम ब्लास्ट होते हैं। अलकायदा इस्लामाबाद और लाहौर तक पहुंच चुका है, ऐसे में पाकिस्तान की मौजूदा सरकार कुछ भी कर पाने में नाकाम नजर आती है।

बेनजीर के पिता और पीपीपी के संस्थापक जुल्फीकार अली भुट्टो 1971-73 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे जबकि 1973-1977 तक प्रधानमंत्री रहे। बेनजीर की मौत के बाद हुए चुनाव में उनकी पार्टी ने पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के साथ मिलकर देश में साझा सरकार बनाई। बाद में बेनजीर के पति आसिफ अली जरदारी को पाकिस्तान का राष्ट्रपति बनाया गया।

सीआईए से लेकर स्कॉटलैंड यार्ड और युनाइटेड नेशन्स तक ने बेनजीर की हत्या की गुत्थी सुलझाने की कोशिश की। बेनजीर की हत्या का मुख्य आरोपी अलकायदा सरगना बैतुल्लाह महसूद पाकिस्तान में एक सैन्य कार्रवाई में मारा गया।


हत्या के आरोप में अल्पव्यस्क गिरफ्तार
पाकिस्तान पुलिस ने एतजाज शाह नाम के एक अल्पव्यस्क लड़के को बेनजीर भुट्टो की हत्या की साजिश में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया। एतजाज शाह की उम्र उस समय 15 साल थी। उसे उत्तर-पश्चिम शहर डेरा इस्माइल से उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह एक और आतंकी हमले की फिराक में था। पुलिस की पूछताछ में उसने यह स्वीकार किया कि वह बेनजीर भुट्टो की हत्या की साजिश में शामिल था।

हत्या की जांच के लिए गठित हुए दल पर दल
बेनजीर भुट्टो की हत्या के डेढ़ साल बीत जाने के बाद सोमवार 24 अगस्त 2009 को पाकिस्तान सरकार ने उनकी हत्या की जांच के लिए एक नये दल का गठन किया। नए जांच दल में कानून लागू करने वाले तथा खुफिया अधिकारी शामिल हैं। इसके प्रमुख संघीय जांच एजेंसी के विशेष जांच समूह के निदेशक हैं। संघीय जांच एजेंसी ही मुंबई आतंकवादी हमले की जांच कर रही है।

यह कदम रावलपिंडी की एक आतंक निरोधी अदालत के उस फैसले के मद्देनजर उठाया गया, जिसने बेनजीर की हत्या से जुड़े मामले की सुनवाई स्थगित कर दी थी। अदालत ने सरकार के अनुरोध पर सुनवाई स्थगित की थी। नए जांच दल का गठन संयुक्त राष्ट्र द्वारा बेनजीर की हत्या के तथ्यों और परिस्थितियों का पता लगाने के लिए एक जांच आयोग गठित करने के मद्देनजर किया गया। संयुक्त राष्ट्र ने साफ कर दिया है कि उसके दल को आधिकारिक जांच का दर्जा हासिल नहीं होगा।

हत्या मामले में मुशर्रफ को हुए कई बार नोटिस जारी
बेनजीर भुट्टो की हत्या के मामले में कथित भूमिका के लिए पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को मंगलवार 29 सितंबर को अदालत में उपस्थित होने के लिए एक नोटिस जारी किया गया। लाहौर उच्च न्यायालय के रावलपिंडी पीठ के न्यायाधीश चौधरी मुहम्मद इजाज ने मंगलवार को नोटिस जारी करते हुए मुशर्रफ एवं अन्य को नवंबर के दूसरे हफ्ते तक जवाब देने को कहा। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति को अदालत में उपस्थित होने के लिए दूसरी बार नोटिस जारी किया गया। भुट्टो की हत्या के षडयंत्र में कई राजनीतिक नेता और अधिकारी शामिल थे।

संयुक्त राष्ट्र आयोग ने की मुशर्रफ से पूछताछ
बेनजीर भुट्टो हत्याकांड की जांच कर रहे संयुक्त राष्ट्र आयोग ने इस संबंध में पाक के पूर्व सैन्य राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ से पूछाताछ की। इस दौरान दोनों पक्षों के बीच स्पष्ट और सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत हुई। संयुक्त राष्ट्र का दल बेनजीर भुट्टो की हत्या के सिलसिले में तथ्यों और परिस्थितियों का पता लगा रहा है।

पाकिस्तानी मीडिया में मुशर्रफ के प्रवक्ता नसीम अशरफ के हवाले से छपी खबरों में कहा गया है कि पिछले महीने की 27 अक्टूबर को फिलाडेल्फिया में मुशर्रफ की संयुक्त राष्ट्र दल से मुलाकात और पूछताछ हुई। मुलाकात के बाद पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि मैं पाकिस्तान के घरेलू मामलों में किसी भी अंतरराष्ट्रीय जांच का जोरदार विरोध करता हूं। बेनजीर के समर्थकों ने मुशर्रफ पर इस हत्याकांड में शामिल रहने का आरोप लगाया था और उन्हें इस जांच पर भरोसा नहीं था। आसिफ अली जरदारी के पाकिस्तान के राष्ट्रपति बनने के बाद उन्होंने इस मामले में संयुक्त राष्ट्र से एक निष्पक्ष जांच कराए जाने की अपील की थी।

अल कायदा हत्या के लिए दोषी : सीआईए
अमेरिकी खुफिया एजेंसी (सीआईए) के निदेशक माइकल हेडन ने एक बार कहा कि पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या के लिए अल कायदा और कबायली इलाकों में सक्रिय तालिबानी चरमपंथी जिम्मेदार है। वाशिंगटन पोस्ट को दिए एक विशेष साक्षात्कार में हेडन ने कहा कि मोहतरमा बेनजीर की हत्या की साजिश बैतुल्लाह महसूद और अन्य आतंकवादियों ने रची और इसमें अल कायदा के नेटवर्क का इस्तेमाल किया गया। गौरतलब है कि पाकिस्तान सरकार भी भुट्टो की हत्या के लिए महसूद और अल कायदा को ही जिम्मेदार ठहराती रही है।

स्थानीय एजेंसियों का सहयोग नहीं : स्कॉटलैंड यार्ड
बेनजीर भुट्टो की हत्या की जांच कर रही स्कॉटलैंड यार्ड टीम ने तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ से लिखित शिकायत की कि स्थानीय जांच एजेंसियां उसके साथ सहयोग नहीं कर रही हैं। स्कॉटलैंड यार्ड ने मुशर्रफ से आग्रह किया कि वह स्थानीय प्रशासन को निर्देश दें कि भुट्टो की हत्या के बाद घटनास्थल से इकट्ठा की गई सबूत संबंधी सूचना उसे मुहैया कराएं। पत्र में कहा गया कि पाकिस्तान की जांच और खुफिया एजेंसियों द्वारा सहयोग न किए जाने के कारण स्कॉटलैंड यार्ड टीम अभी तक कोई ठोस सबूत इकट्ठा नहीं कर सकी है। उसने आरोप लगाया कि अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक (सीआईडी) अब्दुल मजीद के नेतृत्व में पंजाब पुलिस टीम जरूरी सहयोग नहीं कर रही है।

हत्या की गुत्थी सुलझाने को संयुक्त राष्ट्र ने बढ़ाया समय
बेनजीर भुट्टो की हत्या के मामले की जांच कर रहे संयुक्त राष्ट्र के आयोग की अवधि तीन माह बढ़ाई गई। संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने दिसंबर 2009 में जांच की समय सीमा बढ़ाई। बान ने बताया कि उन्हें आयोग के सीमित समय के कारण इसकी अवधि तीन माह और बढ़ाने के लिए राजदूत हेराल्दो मुनोज से एक आधिकारिक अनुरोध प्राप्त हुआ था। मुनोज भुट्टो की हत्या के मामले की जांच कर रहे आयोग के अध्यक्ष हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बेनजीर की हत्या के दो साल बाद