class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाखों की विधायक निधि का हिसाब नहीं

दो वर्ष पूर्व दी गई विधायक निधि विकास कार्य में खर्च हो गई या खातों में ही पड़ी है। इसका अभी तक कोई हिसाब जिला ग्राम्य अभिकरण कार्यालय को नहीं मिला है। सीडीओ ने प्रधान व बीडीओ आदि से लाखों की निधि का उपभोगता प्रमाण-पत्र 31 दिसंबर तक देने के निर्देश दिए हैं।

विधान मंडल क्षेत्र में विकास निधि योजना में विधायक व विधान परिषद के सदस्यों की ओर से धनराशि दी जाती है। अधिशासी अभियंता नगरीय विद्युत वितरण खण्ड द्वितीय व तृतीय दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम, बीडीओ खैर,  प्रधान व पंचायत सचिव अतरौली, चंडौली ब्लॉक अतरौली, जट्टारी ब्लॉक  टप्पल को विधायक निधि योजना में 20 लाख 51 हजार रुपये 2007-08-09-10 में दिए थे।

दो वर्ष से इस धनराशि का कोई भी रिकॉर्ड इन लोगों द्वारा नहीं दिया गया है। सीडीओ दिनेश सक्सेना ने निर्देश दिए हैं कि ये पैसा यदि खाते में पड़ा है तो इसका ब्याज सहित ब्योरा दें।

विकास कार्यो में खर्च हुआ है तो इसका उपभोगता प्रमाण-पत्र 31 दिसंबर तक अभिकरण कार्यालय में जमा करा दें। अन्यथा यह मान लिया जाएगा कि विधायक निधि का दुरुपयोग हुआ है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लाखों की विधायक निधि का हिसाब नहीं