अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंकियों की तलाश में लखनऊ में छापे पड़े

इन्दिरानगर के सी-2016 और 2014 नंबर के मकानों में अत्याधुनिक असहलों से लैस कुछ लोग घुसे हुए हैं। इतना कहते ही बोल रहे व्यक्ति ने फोन काट दिया। उसके बाद लखनऊ पुलिस ने इन्दिरानगर के इन दोनों घरों को चारों ओर से घेर लिया।

घर में घुसकर अलमारी से लेकर छत तक की पुलिस अफसरों ने खंगाला। इस खबर के चलते ही पुलिस ने गोमती नगर, हसनगंज और इन्दिरा नगर में कई जगह छापे मारे, वाहनों की चेकिंग की। लेकिन पुलिस को कुछ भी हाथ नहीं लगा।

इन्दिरानगर के सी-2016 में प्रेरणा हिरा और उनके पति प्रतीक हिरा मकान के अलग-अलग हिस्सों में रहते हैं। शुक्रवार दोपहर को पुलिस कंट्रोल में किसी व्यक्ति ने सूचना दी थी कि इस मकान में अत्याधुनिक असहलों से लैस लोग घुसे हुए हैं।

इसकी सूचना पाकर एसएसपी ने ट्रांसगोमती पुलिस और इंटेलिजेंस के अफसरों के साथ मकान को घेर लिया। आंतकी होने की आशंका के चलते पुलिस ने प्रेरणा हिरा के ताला बंद मकान के दरवाजों को उनकी गैर मौजूदगी में ही तोड़ डाला।

जब तक प्रेरणा अपनी वकील महिला मित्र के घर से अपने मकान तक पहुँची तब तक पुलिस ने उनके कमरे के सारे ताले, अलमारी व अन्य संभावित स्थानों को खंगाला डाला। पुलिस प्रतीक के हिस्से वाले मकान में भी घुस गई। यहाँ भी खूब तलाशी ली गई। इसके बाद संदेह के आधार पर पुलिस ने मकान नंबर सी-2014 निवासी पूर्णिमा झा के मकान में छापा मारा।

सूचना के आधार पर आतंकियों और अत्याधुनिक असलहों को तलाशा। लेकिन पुलिस को दोनों ही मकानों से कुछ नहीं मिला। सूचना से बौखलाई पुलिस ने फोन करने वाले व्यक्ति को भी तलाशा पर वह भी उनके हाथ नहीं लगा। फिर पुलिस ने घंटों वाहनों की चेकिंग की। इन्दिरा नगर, गोमती नगर, हसनगंज के कई संभावित स्थानों पर भी छापा मारकर तलाशी हुई। बाद में पुलिस अफसरों ने मामले को छुपाने के लिए रूटीन चेकिंग का नाम दे दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आतंकियों की तलाश में लखनऊ में छापे पड़े