अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किशनगंज: क्षेत्र के विकास पर होगी नजर

लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय मुद्दे तो छाए रहते हैं लेकिन स्थानीय मुद्दों को भी मतदाता तरजीह देते हैं। इस चुनाव में विकास सबसे बड़ा मुद्दा बनेगा। पहले इस संसदीय क्षेत्र में समुदाय के आधार पर ही मतदाताओं का झुकाव होता रहा है लेकिन राजनैतिक उठापटक के दाव पेंच में अब विकास को भी मतदाता प्रमुखता देने के मूड में हैं।ड्ढr ड्ढr सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक हरि मोहन सिंह का कहना है कि अल्पसंख्यक बहुल किशनगंज संसदीय सीट पर अब सम्प्रदाय के आधार पर ध्रुवीकरण की बात नहीं रह गई है। दोनों समुदाय के लोगों के जेहन में अब समुदायवाद से हटकर क्षेत्र की विकास ही मुद्दा रहेगा। अशिक्षा, गरीबी इस क्षेत्र के लिये अभिशाप है। उद्योगविहीन क्षेत्र होने के कारण बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है। भ्रष्टाचार लूट खसोट तथा अफसरशाही अवाम के नजरों में बड़ी समस्या है। संतोष मंडल गुड्डूू का कहना है कि किशनगंज लोकसभा सीट पर अब विकास ही सबसे बड़ा चुनावी मुद्दा होगा। समुदायवाद की भावना उभारकर समर्थन लेने के दिन लद चुके।ड्ढr ड्ढr चूंकि किशनगंज मुस्लिम बहुल क्षेत्र है इसलिए यहां जाति की जगह समुदाय हावी हो जाता था लेकिन अब समय बदला है। क्षेत्र का विकास हर कोई चाहता है। हाल के वर्षो में विकास होने से अब यहां के लोग भी विकास को तरजीह देने लगे हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: किशनगंज: क्षेत्र के विकास पर होगी नजर