class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुनहरा है भारतीय अर्थव्यवस्था का अगला सालः अन्सर्ट एंड यंग

सुनहरा है भारतीय अर्थव्यवस्था का अगला सालः अन्सर्ट एंड यंग

भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर मजबूत औद्योगिक वृद्धि और घरेलू खपत में बढ़ोतरी के कारण अगले वित्त वर्ष में नौ फीसदी रह सकती है।

अर्न्‍स्ट एंड यंग फिनांशल सर्विसेज के भागीदार एवं राष्ट्रीय निदेशक अश्विन पारेख ने पीटीआई से कहा कि मुझे उम्मीद है कि अगले साल औद्योगिक उत्पादन अधिक होगा। सामान्य मानसून के साथ 2010-11 में वृद्धि दर नौ फीसदी पर पहुंच सकती है।

उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष में भारत की वृद्धि दर 7.5 फीसदी से आठ फीसदी के बीच रह सकती है। आने वाले महीनों में निर्यात के आंकड़े बढ़ने की उम्मीद है और औद्योगिक वृद्धि दर करीब नौ से दस फीसदी रहने की संभावना है।

वैश्विक वित्तीय संकट के कारण पिछले वित्त वर्ष के दौरान वृद्धि दर घटकर 6.7 फीसदी पर आ गई, जो इसके पिछले तीन साल के कारण नौ फीसदी के करीब रही थी। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 6.1 फीसदी रही, जबकि दूसरी तिमाही में बढ़कर 7.9 फीसदी पर पहुंच गई, जो किसी भी विश्लेषक या विश्लेषण संस्थानों के अनुमान से अधिक था।

पारेख ने कहा कि बढ़ता राजकोषीय घाटा और खाद्य मुद्रास्फीति नीति निर्माताओं के सामने बड़ी चुनौती पेश करती रहेंगी। उन्होंने कहा कि कीमतों में बढ़ोतरी खराब मानसून के कारण हुई। हालांकि इस पर आपूर्ति प्रबंधन में कमी और मूल्य का भी असर पड़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुनहरा है भारतीय अर्थव्यवस्था का अगला सालः अन्सर्ट एंड यंग